धर्म के नाम पर अधर्म क्यों ?

धर्म के नाम पर अधर्म क्यों ?

देश में जब कोरोना माहामारी को हराने के लिए सरकार हर तरह की कोशिश में जुटी हुई है, देश का हर नागरिक इसको हराने के लिए सरकार के साथ खड़ा है, तभी आचानक ही दिल्ली के निजामुद्दीन में स्थित तबलीगी जमात के मरकज सुर्खियों में छा जाता है, वो भी इसलिये क्योंकि सरकार के लाख मना करने के बाद भी इन लोगों ने भीड़ इकट्ठा की जिसके बाद सारे देश में चिंता के बादल देखे जा सकते हैं। हालांकि सरकार की तरफ से उठाये गये कठोर कदमों का असर है कि ये जमाती कोरोना बम नहीं बन पा रहे हैं।

देशभर में जमातियों का सर्च ऑपरेशन

देशभर में जमात से लौटे लोगों की तलाश युध्द स्तर पर की जा रही है, जिससे कोरोना वायरस को रोका जा सके। गुजरात,यूपी मध्यप्रदेश महाराष्ट्र और बिहार में तेजी के साथ इन लोगो की तलाश चल रही है। शुरुआत उत्तर प्रदेश से कर सकते हैं, जहां मरकज से लौटे लोगों की तलाश के लिए पुलिस  लगातार सर्च ऑपरेशन चला रही है। अब तक 117 लोगों को क्वारंटीन किया जा चुका है, साथ ही इनके संपर्क में आए लोगों को भी क्वारंटीन किया जा रहा है। इसी तरह मध्य प्रदेश में भी 65 लोगों को क्वारंटीन किया गया है। राजस्थान की बात करे तो यहां पर करीब 31 लोगों को देखरेख में रखा गया है इसी तरह दूसरे राज्यों के लोगो को भी रखा जा रहा है।

दूसरी तरफ दिल्ली में मरकज की इमारत को पूरी तरह से खाली करवा दिया गया है। मरकज से 2 हजार से ज्यादा लोग निकले हैं, मरकज से जिन लोगों को निकाला गया है, उसमें से 617 अस्पताल में भर्ती हैं, बाकी क्वारंटीन किए गए हैं। जो विदेशी ठीक है, उन्हें उनके देश भेजने की तैयारी की जा रही है।

आखिर क्यों सच को छुपाया 

लेकिन सवाल ये उठता है, कि आखिर क्यों धर्म के नाम पर इतना बड़ा अधर्म हो रहा था, तबलीगी मरकज को चलाने वाले आखिर कोरोना वायरस को इतने हल्के में क्यों ले रहे थे। या फिर कुछ लोगों की शह पर सरकार के हर फरमान का विरोध करने का जमात ने मन बना रखा है। ऐसा हम इस लिये कह रहे है क्योंकि जमात के प्रमुख का विडियो टेप कुछ यही बताता है साथ ही पुलिस के मना करने पर भी आखिर इन लोगों ने क्यों बात को अनसुना किया। ऐसे कई सवाल हैं जो खड़े हो रहे है, फिलहाल तो सबसे बड़ा सवाल यही बनता है, कि आखिर क्यों मानवता के खिलाफ इतना बड़ा कदम उठाया गया जिससे आज देश भर में कितनी जिंदगी भय के माहौल में है। हालांकि मोदी सरकार के चलते ही इतने बड़े खतरे के बाद भी देश कोरोना को हराने में लगा है। ऐसे में हम देशवासियों से  ये अपील जरूर करेंगे कि अगर आपके आसपास कोई तबलीगी जमात से आया हो तो उसे छुपाये न बल्कि उसके बारे में बताकर अपनो और देश की मदद करें।