दिल्ली में 6 दिन के लॉकडाउन के ऐलान के तुरंत बाद, शराब की दुकान में पीने वालो की लगी कतार

दिल्ली में बढ़ते कोरोना मामलो के चलते सरकार ने 6 दिन का दिल्ली में लॉकडाउन का फैसाला का जैसे ही ऐलान किया दिल्ली की सड़को में किसी और वस्तु को लेकर अफरातफरी नहीं मची जितनी शराब के ठेकों के बाहर देखी गई। जैसे ही सरकार ने ऐसान किया उधर ठेकों के बाहर लोगों का हुजूम लगने लगा ।

मुझे दवाओं का नहीं, पेग का असर होगा

इस दौरान एक से बढ़कर एक दिल्ली वाले रूबरू हुए। कुछ तो शराब की पेटी खरीद कर चुपके से निकल रहे थे तो कुछ बोल रहे थे कि 6 दिन का स्टाक लेकर रख लिया है जिससे बाहर न निकलना पड़े लेकिन सबसे मजेदार किस्सा तो एक महिला ने सुनाया जिससे बोला कि लॉकडाउन में शराब की दुकान खोलनी चाहिये। उसने दावा किया कि वो 35 साल से शराब पी रही है और किसी भी बीमारी की कोई दवा नही ली है, अभी तक वैक्सीन भी नही लगवाया है उसने दावा किया कि उसके ये एक पेग शराब का ही दवाओं से बढ़कर है। ऐसा आलम सिर्फ एक स्थान पर नहीं था समूची दिल्ली से शराब के ठेके के बाहर लोगों की भी खूब देखी गई।

कोरोना गाइडलाइन का खूब उड़ा मजाक देखती रही सरकार

एक तरफ लगातार हम सब एक दूसरे को कोरोना से बचने के लिये बड़े बड़े उपदेश देने में लगे हैं,  उस बीच शराब के ठेकों के बाहर कोरोना गाइडलाइन का खूब मजाक बनाया गया हर तरफ लोगों की भीड़ में सामाजिक दूरी मानो जैसे खत्म हो गई हो लोग एक दूसरे के ऊपर से शराब खरीदने के लिए चढ़े जा रहे थे। हर तरफ अफरातफरी का आलम देखा जा रहा था। इस बीच कुछ जगहों पर पुलिस जरूर भीड़ को सही तरीके से खड़ी करने में लगी हुई थी लेकिन भीड़ को देखकर तो यही लग रहा था कि दो दिन का कर्फ्यू दिल्ली में जो लगा था वो पूरी तरह से बेकार हो गया हो।

लेकिन ये तस्वीर देखकर तो यही लगा जैसे कोरोना महामारी को लेकर दिल्लीवाले बिलकुल उदासीन हो गये है तभी तो इस तरह की तस्वीर आ रही है जो दिल को बुरी तरह से कचोट रही है और ये बोलने पर मजबूर कर रहा है कि अभी हम नहीं सुधरे तो हालात बहुत बुरे होगे।