कोरोना की तीसरी लहर लाने में लगे कुछ लोग

देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर कम हो रही है और इसके पीछे का कारण है केंद्र सरकार की रणनीति वरना सभी ने देखा कि कैसे राज्य सरकारों की कोताही के चलते देश में कोरोना से हाहाकार मच गया था, कैसे ऑक्सीजन के लिये लोगो को दर दर भटकना पड़ रहा था। लेकिन जब आज हालात सही हो रहे है तो एक बार फिर से कोरोना की तीसरी लहर को जिंदा करने की कोशिश कुछ लोग कर रहे है, कैसे इस लेख को पूरा पढ़ने में आप समझ जायेगे कि हम ऐसा क्यो बोल रहे है।

Demands unmet, farmers to intensify agitation

 

मोदी के खिलाफ किसान आंदोलन को हवा देते कुछ लोग

पिछले साल शुरू हुए किसान आंदोलन को मोदी सरकार के विरोध में लगातार कुछ लोग मोहरा बना रहे है। लेकिन अब तो हद हो गई जब सभी अच्छी तरह से जानते है कि देश में कोरोना को लेकर कैसे हालात है उसके बाद भी इस आंदोलन को हवा देने के लिये 26 मई को बकायदा मोर्चा खोला जा रहा है। किसानों को आसपास से बुलाया जा रहा है जो साफ बताता है कि सियासत और मोदी सरकार को बदनाम करने के लिये कैसे कुछ लोग किसानों को यूज करके देश में कोरोना की तीसरी लहर पैदा करके हमारे बच्चो की लाश के साथ सियासत करने का प्लान बना रहे है। वैसे इस लोगो ने गंगा में बहशवों को लेकर खूब घड़ियाली आंसू बाहर मोदी सरकार पर हमला बोला लेकिन जब उनकी पोल खुल गई तो वो फिर से नया प्लान बना रहे है और इसबार निशाने में किसानों को लिया जा रहा है जो उनकी ओछी सियासत को दिखाता है।

किसानों को भी होना होगा सावधान

दूसरी तरफ इस फर्जी आंदोलन को लेकर किसानों को भी सावधान रहना चाहिये क्योकि उनके कंधे पर रखकर कुछ लोग बंदूक चलाने की पूरी साजिश कर चुके है ऐसे में अगर वो अपने गांव से इस आंदोलन में आते है तो जब वो वापस लौटेंगे तो वो कोरोना भी अपने गांव ले जा सकते है जिससे उनके अपने ही इस महामारी के शिकार होगे। इस लिये देश के भोले-भाले किसान इन लोगों के बहकावे में ना आये। वैसे सच तो आप खुद जानते है कि कैसे कृषि कानून का फायदा किसान उठा रहे है। एक तरफ राजस्थान के किसानो को खुले बाजार में अपनी फसल का एमएसपी से ज्यादा पैसा मिल रहा है तो पहली बार पंजाब के किसानों ने सरसो की फसल को खुले बाजार में बेच कर ज्यादा पैसा कमाया है वही सूरजमुखी का दाम भी इश बार एमएसपी से ज्यादा खुले बाजार में मिल रहा है जो ये साफ बताता है कि नया कानून कैसे किसानों की जेब भर रहा है।

इसलिये किसी के बहकावे में आकर सिर्फ कुछ लोगों की सियासत चमकाने लिये आप मोहरा न बने जिससे खुद तो बचे ही साथ ही देश को भी कोरोना से बचाये।