सोशल सच | PM मोदी का मेकअप पर 80 लाख खर्च वाली खबर झूठी है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रहन-सहन और पहनावे को लेकर कुछ न कुछ दावे किए जाते रहते हैं। विपक्षी पार्टियां तो मोदी सरकार को सूट-बूट की सरकार भी कहती है। अब पीएम मोदी की एक ऐसी फोटो वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी हर महीने अपने श्रृंगार के लिए ब्यूटीशन को 80 लाख रुपये देते हैं।

Modi

फेसबुक पर किसी यूजर ने फोटो पोस्ट किया था और लिखा था की “ये है गरीब का बेटा, मेकअप करा रहा है। आरटीआई के जरिए खुलासा हुआ है कि इसके श्रृंगार के लिए ब्यूटीशन को 80 लाख रुपये प्रतिमाह भुगतान किया जाता है।” और फिर इसे सोशल मीडिया पे खूब शेयर किया गया था। वायरल फोटो में पीएम मोदी एक कुर्सी में बैठी है जबकि एक महिला उनके पास खड़ी है। महिला के हाथ में एक मेक-अप बॉक्स है।

सच क्या है?

सोशल मीडिया पर पीएम मोदी की जिस फोटो को वायरल किया जा रहा है, वो दो साल पुरानी है। ये फोटो उस वक्त की है जब पीएम मोदी के पुतले का लंदन के मैडम तुसाद म्यूजियम में लगाए जाने की तैयारी की जा रही थी। असल में लंदन के मैडम टुसॉड्स म्यूजियम में उनकी मोम की प्रतिमा लगाने से पहले लिए गए नाप के दौरान बनाया गया था। मार्च, 2016 में मैडम टुसॉड्स की टीम नई दिल्ली में प्रधानमंत्री आवास पर पीएम मोदी का नाप लेने आई थी।

कैसे की पड़ताल?

• इस फोटो की सच्चाई जानने के लिए गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद ली गई और जैसे ही इस फोटो को गूगल पर अपलोड किया तो उसकी सच्चाई  सामने आ गई।
• इसके बारे में थोड़ा और सर्च करने पर मैडम तुसाद म्यूजियम का एक वीडियो भी मिला जो 19 मई 2016 को अपलोड किया गया था। इस वीडियो में  म्यूजियम की एक्सपर्ट टीम को पीएम मोदी का नाप लेते दिखाया गया है। इस विडियो को अब तक 82 लाख से ज्यादा लोग देख चुके हैं।
• वीडियो में एक फ्रेम वही है जो वायरल फोटो में इस्तेमाल किया गया है। इस फोटो में म्यूजियम की एक्सपर्ट मोदी की आंखों का कलर मैच कर रहीहै।
• लेकिन इस फोटो को गलत दावे के साथ सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। पड़ताल में फोटो तो सही साबित हुई, लेकिन इसका दावा गलत साबित हुआ।

इस तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगाया गया 80 लाख रुपये मेकअप आर्टिस्ट को देने वाला दावा गलत साबित हुआ।