स्मृति ईरानी – कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष को हराने वाली पहली बीजेपी उम्मीदवार

Amethi Lok Sabha Elections 2019 result

2014 के लोकसभा चुनाव में हार के बावजूद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी 2019 में एक बार फिर राहुल गांधी से मुकाबले के लिए तैयार थी| इस बार उन्होंने गांधी परिवार के 50 साल पुराने किले को ध्वस्त कर दिया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को स्मृति इरानी ने 55,120 वोटों से करारी शिकस्त दी है। और इस तरह स्मृति ईरानी, कांग्रेस के किसी राष्ट्रीय अध्यक्ष को हराने वाली पहली बीजेपी उम्मीदवार बन गयी।

Ameethi_Result

अपनी जीत के बाद स्मृति ईरानी ने खुद को एक समर्पित कार्यकर्ता बताया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पार्टी का शुक्रिया अदा किया, साथ ही अमेठी की जनता को जीत के लिए आभार प्रकट किया।

2014 में अपने हार के बावजूद स्मृति ईरानी ने अमेठी में विकास कार्यों में हमेशा अपना योगदान देते हुए जनता के बीच आधार बनाया। उन्होंने निरंतर अमेठी की जनता से संपर्क बनाये रख अपनी उपस्थिति अमेठी और अमेठी की जनता के बीच दर्ज कराती रही।

2014 से 2019 के दौरान स्मृति ने चुपचाप अमेठी के 63 दौरे किए। दूसरी ओर राहुल ने इस दौरान 28 बार अपने संसदीय क्षेत्र का रुख किया। कई बार वह अपने सहयोगी केंद्रीय मंत्रियों के साथ अमेठी जाकर जन सहयोगी कार्य करती रही, उनके प्रयासों से इस साल मार्च में पीएम मोदी ने अमेठी में आधुनिक क्लाशनिकोव-203 राइफलों के निर्माण के लिए बनी ऑर्डिनेंस फैक्ट्री का लोकार्पण किया। विगत 5 सालों में स्मृति ईरानी ने अपने संसदीय क्षेत्र में रेलवे, सड़कों, स्कूलों और किसानों के लिए बहुत से कार्य किये।

आपको ज्ञात होगा की अमेठी में चुनाव प्रचार के लिए अनुप्रिया पटेल, साध्वी निरंजन ज्योति, और भोजपुरी स्टार मनोज तिवारी ने यहां रैलियों को संबोधित किया। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ यहां दो बार आए और स्मृति के नामांकन के दिन उन्होंने रोड शो भी किया था।

इस तरह 2019 के लोक सभा चुनाव में बीजेपी कैंडिडेट स्मृति ईरानी ने राहुल गाँधी को 55,120 वोटों से हराकर अमेठी के आँगन में कमल के फूल के साथ-साथ तुलसी भी खिला दिया।