सुनने में लगे छोटी योजना, लेकिन परिणाम इसके बहुत बड़े

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

शायद नरेंद्र मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री होगे जो लालकिले से किसी योजना का ऐलान करते है और वो योजना बस कुछ दिन में ही लोगों को बीच शुरू हो जाती है। फिर वो जनधन बैंक खाता योजना हो या फिर महिलाओं को सस्ते दर पर सैनेटरी पैड देने की योजना हो, बस पीएम मोदी ने ऐलान किया और इसका फायदा आम लोगो को मिलने लगता है।

1 रुपए में बायोडिग्रेडेबल नैपकिन्स

प्रधानमंत्री के ऐलान के बाद अब महिलाओं के स्वास्थ्य को देखते हुए केंद्र सरकार ने अपने सभी जन औषधि केंद्रों में सैनेटरी नैपकिंस का दाम 1 रुपया कर दिया है, जिसकी शुरूआत आज से हो गई है। जिसके बाद अब  जन औषिधि केंद्रों पर सिर्फ 1 रुपये में सैनेटरी नैपकिंस खरीदे जा सकेंगे। अब तक ‘सुविधा’ के नाम से जन औषिधि केंद्रों में ये बायोडिग्रेडेबल नैपकिन्स’ 2.50  रुपए में मिलते थे जिनका दाम अब घटा कर 1 रुपया कर दिया गया है। अभी तक 4 नैपकिन्स का एक पैकेट 10 रुपये में मिलता था लेकिन अब इसको सिर्फ 4 रुपये में महिलाओं को उपलब्ध कराया जाएगा।

भारत में 31.2 करोड़ महिलाएं अस्वस्थ

भारत में ऐसी 31.2 करोड़ महिलाएं हैं, जिन्हें ‘मासिक धर्म’ संबंधी स्वच्छ और प्रभावी संरक्षण उपलब्ध नहीं है। देश में महिलाओं में सबसे ज्यादा बीमारियां उनके स्वच्छ नहीं रहने के कारण होती हैं। यहां तक कि भारत में 10 में से 9 महिलाओं को हर महीने अपने शारीरिक समस्या का सामना करना पड़ता है। साधन और आर्थिक स्थिति खराब होने की वजह से महिलाएं गंदे कपड़े या पुरानी पत्तियों जैसी नुकसानदेह चीजों का सहारा लेती हैं। जिनसे स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं पैदा होती है इसी को ध्यान में रखते हुए पीएम मोदी ने लालकिले से इस समस्या पर आवाज उठाया था। गौरतलब है कि उस वक्त पीएम के इस भाषण को देश के लोगो ने हाथो हाथ लिया था, साथ ही सोशल मीडिया में लोगों ने इसकी खूब तारीफ भी की थी। वैसे ऑकड़ो के आधार पर देखा जाए, तो एक साल के भीतर देश के 5500 जन औषिधि केंद्रों में 2.2 करोड़ नैपकिंस बेचे जा चुके हैं और ये माना जा रहा है, कि दाम कम होने से इनकी बिक्री दोगुनी हो जाएगी। खासकर उन इलाको में जहां गरीब महिला पैसे की कमी के चलते इसे खरीद नही पाती थी। सरकार की माने तो इसके साथ उन इलाको में जनऔषिधि केंद्रों को और खोला जाएगा जहां पर अभी ये नही खुले है जिससे किफायत दाम पर दवा के साथ साथ महिलाओं को किफायत में बायोडिग्रेडेबल नैपकिन्स मिल सके।

मोदी जी की ये योजना भी सुनने में बहुत छोटी सी लग रही होगी, लेकिन इसके परिणाम इतने बड़े होगे जिसको हम अभी नही सोच रहे है। क्योकि इस एक पहल से करोड़ो महिलाओं के स्वास्थ पर सीधा फर्क पड़ेगा और अगर घर की महिला स्वस्थ होती है, तो घर का महौल खुशमय होता है जिसका असर लोगो की आय पर भी पड़ती है। ऐसे में जो लोग इसे सिर्फ खबर समझ रहे है। वो एक बड़ी भूल कर रहे है, क्योकि इस खबर का असर बहुत बड़ा फायदा लेकर आने वाला है।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •