सीतारमण ने पेश की मिसाल, घायल शशि थरूर से मिलने पहुंची

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

लोकसभा चुनाव में नेताओं के बीच वार और पलटवार की जुबानी जंग जारी है। बेतुके और आपत्तिजनक बयान देने की मानो होड़ सी लगी है। कभी आज़म खान महिलाओं पर गन्दी टिप्पणी करते हैं तो कही दलितों और मुस्लिमो को भरकाने से मायावती बाज़ नही आती है| लेकिन इन सबके बीच सियासत के गलियारे से दिल को सुकून देने वाली एक तस्वीर सामने आई है। राजनीति में शिष्टता को दर्शाती यह तस्वीर आईना है उन नेताओं के लिए जो सियासी संघर्ष में बहुत कुछ ताक पर रख देते हैं। जी हां, केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम के एक अस्पताल में भर्ती शशि थरूर देखने जब निर्मला सीतारमण तो लगा कि राजनीति में शिष्टाचार कितना अहम है।

Nirmala_Sitaraman_visited_injured_Congress_MP_Shashi_Tharoor

कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर सोमवार को मंदिर में दर्शन के दौरान घायल हो गए थे। शशि थरूर तिरुवनंतपुरम में एक मंदिर में पूजा-अर्चना करने के लिए गए थे, इसी दौरान उन्हें चोट लग गई थी, जिसके बाद उन्हें 11 टांके लगाए गए थे। फिलहाल शशि थरूर अस्पताल में भर्ती हैं और उनसे मुलाकात करने के लिए रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण पहुंचीं। निर्मला सीतारमण के साथ अस्पताल में मुलाकात के बाद शशि थरूर ने इस तस्वीर को ट्विटर पर साझा करते हुए खास बात कही है।

शशि थरूर ने निर्मला सीतारमण की तस्वीर को साझा करते हुए लिखा है कि मैं निर्मला सीतारमण के इस भाव से काफी प्रभावित हूं, उन्होंने चुनाव में व्यस्तता के बाद भी अस्पातल में मुझसे मिलने के लिए आईं। उन्होंने लिखा कि भारतीय राजनीति में शिष्टाचार एक खास गुण है, इस गुण को खुद निर्मला सीतारमण ने यहां आकर प्रदर्शित किया है। इसके अलावा केरल में लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट के नेता सी दिवाकरन ने भी शशि थरूर को फोन करके उनके जल्द से जल्द स्वस्थ्य होने की कामना की।

दिवाकरन के फोन कॉल की जानकारी देते हुए थरूर ने लिखा कि दिवाकर जी ने मुझे फोन करके मेरा हाल जाना, उन्होंने कहा कि अस्पताल के सुप्रिटेंडेंट से उन्होंने बात की है और मेरी बेहतरी की बात कही। मैं इस तरह के भाव को देखकर और भी दृढ़ हुआ हूं। बता दें कि शशि थरूर को स्थानीय परंपरा के अनुसार तराजू के तरफ बैठाकर चीनी से तोला जा रहा था, इसी दौरान तराजू टूट गया और थरूर के सिर पर गिर गया, जिसकी वजह से वह घायल हो गए थे।

बता दें कि कांग्रेस ने थरूर को एक बार फिर तिरुवनंतपुरम सीट से लोकसभा चुनाव में उतारा है। इस सीट से दो बार कांग्रेस के सांसद चुने गए थरूर का मुकाबला बीजेपी नेता और मिजोरम के पूर्व राज्यपाल कुम्मानेम राजशेखरन और सीपीआई विधायक सी दिवाकरन से है। थरूर इस सीट से पहली बार 2009 में चुनाव लड़े थे। उस बार उन्हें एक लाख से तीन मत कम मिले थे, लेकिन 2014 में वह लगभग 15,000 मतों के अंतर से जीते।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •