शोएब अख्तर ने पाकिस्तान की आवाम को लताड़ा, कहा भारतीयों से सीखो कोरोना से लड़ने के तरीके

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पाकिस्तान मे कोरोना वायरस के लगातार बढ़ रहे केसेज पर पूर्व पाकिस्तानी तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने चिंता जताते हुए कहा है कि जब तक पाकिस्तान की आवाम कोरोना के खतरों को गंभीरता से नहीं लेगी तब तक इसका कोई भी उपाय संभव नहीं है | उन्होंने यह भी कहा है कि लोग बिल्कुल भी चौकन्ने नहीं हैं और वे बेधड़क झुंड बनाकर कहीं भी आ-जा रहे हैं। लोगों को संभलना चाहिए और खुद को लॉकडाउन करना चाहिए।

पाकिस्तान में कोरोना वायरस (कोविड- 19) महामारी के प्रकोप ने रफ्तार पकड़ ली है। यहां अब तक 799 केस पॉजिटिव पाए गए हैं और 6 लोगों की मौत हो चुकी है। इस पर शोएब अख्तर ने पाकिस्तान के हालात पर चिंता जताई है।

 इंडिया से सीख लेने की जरूरत 

रावलपिंडी एक्सप्रेस ने कहा कि इस मामले में हमें इंडिया से सीख लेने की जरूरत है। वहां कर्फ्यू लगा है | लोगों ने खुद को अपनी मर्जी से लॉकडाउन किया हुआ है। बांग्लादेश और रवांडा जैसे मुल्क भी इस घातक बीमारी पर अच्छा काम कर रहे हैं। लेकिन पाकिस्तान के लोगों में डर ही नहीं है। यहां एक-एक बाइक पर चार-चार लोग बैठकर घूम रहे हैं। लोग पहाड़ों पर पिकनिक मनाने जा रहे हैं।

सरकार को करनी होगी पहल 

अख्तर ने कहा कि पंजाब (पाकिस्तान प्रांत) सरकार को यहां हालात पर काबू पाने के लिए कर्फ्यू लगाना चाहिए। यहां रेस्तरां रात 10-10 बजे तक खुल रहे हैं। लोग एक-दूसरे के घर में दावतों के लिए जा रहे हैं। अख्तर ने लोगों से अपील की वे वक्त की नजाकत को समझें और दो सप्ताह के लिए सबसे मिलना-जुलना बंद करें ताकि इस वायरस को प्रभावहीन किया जा सके।

संपर्क में आने से बचें 

इस तेज गेंदबाज ने बताया कि लोगों को समझना चाहिए कि इस बीमारी के 90 फीसदी मामले लोगों के संपर्क में आने से ही सामने आए हैं। ऐसे में लोगों को संपर्क में आने से बचना चाहिए और दो सप्ताह घर में रहने की आदत डालनी चाहिए।

   


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •