शिवांगी 2 दिसंबर को भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट बनेगी

Indian Navy

इंडियन नेवी में एक नया इतिहास बनने वाला है। वायुसेना की तीन महिला पायलट्स द्वारा मिग-21 उड़ाने के बाद अब बिहार की बेटी शिवांगी नौसेना में पायलट बनने जा रही है। भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट 4 दिसंबर को नौसेना दिवस से दो दिन पहले 2 दिसंबर को यहां नौसेना संचालन में शामिल होगी।

Lt Shivangi, First women pilot of Indian Navy

भारतीय नौसेना के बेड़े में अगले महीने 2 दिसंबर को फिक्स्ड विंग डोर्नियर सर्विलांस विमानों की उड़ान के लिए पहली महिला पायलट सब लेफ्टिनेंट शिवांगी शामिल हो जाएंगी। महिला अधिकारी सब लेफ्टिनेंट शिवांगी इस दिन कोच्चि में ऑपरेशन ड्यूटी में शामिल होंगी और उड़ान भरेंगी।

बिहार के मुजफ्फरपुर की रहने वालीं शिवांगी ने अपनी 12वीं तक की पढ़ाई डीएवी-बखरी से की है। इसके बाद उन्होंने सिक्किम मनीपाल इंस्टिच्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से बीटेक किया। शिवांगी के पिता हरिभूषण सिंह मुजफ्फरपुर के फतेहाबाद हाई स्कूल में शिक्षक है ।

बता दें कि चार दिसंबर को नौसेना दिवस मनाया जाता है और उससे ठीक पहले सब लेफ्टिनेंट शिवांगी नौसेना में महिला पायलट के रूप में टोही विमान उड़ाती नजर आएंगी। शिवांगी भारतीय नौसेना अकादमी, एझिमला के 27एनओसी पाठ्यक्रम के तहत एसएससी (पायलट) के तौर पर नौसेना से जुड़ी थीं। वाइस एडमिरल एके चावला ने जून में उन्हें औपचारिक रूप से नौसेना का हिस्सा बनाया था।

अभी दक्षिणी नौसेना कमान में प्रशिक्षण ले रही शिवांगी को दो दिसंबर को डॉर्नियर विमान उड़ाने के लिए अधिकृत कर दिया जाएगा। बता दें कि निगरानी विमानों को कम दूरी के समुद्री मिशन्स के लिए भेजा जाता है और यह भारतीय समुद्री क्षेत्र की निगरानी में मदद करते हैं।

नौसेना के विमानन विभाग में अभी महिला अधिकारियों की नियुक्ति एयर ट्रैफिक कंट्रोल ऑफिसर और विमान में ऑब्जर्वर के तौर पर होती है।

आपको बता दें कि इस साल भावना कांत भारतीय वायुसेना की पहली महिला पायलट बनी थीं, जिन्होंने सभी प्रशिक्षण क्वालीफाई किए थे। भावना के अलावा मोहना सिंह और अवनी चतुर्वेदी भी फाइटर पायलट बनी थीं। इसके अलावा भारतीय सेना में 100 महिला सैनिकों का पहला बैच 2021 में शामिल हो सकता है। इन महिला सैनिकों को भारतीय सेना के कोर ऑफ मिलिट्री पुलिस में कमीशन किया जाएगा।