Shaheen Bagh / वार्ताकार साधना रामचंद्रन बोलीं- यहां बात करने का माहौल नहीं

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले दो महीने से नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है। वकील संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन आज एक बार फिर शाहीन बाग़ के प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने पहुंचे। उन्होंने मीडिया को प्रदर्शनकारियों से दूर जाने को कहा। बहरहाल प्रदर्शनकारी अभी भी डटे हुए हैं और मांगों का कोई असर नहीं दिखाई दे रहा है। इस बीच मध्यस्थों ने भी कहा कि ऐसे माहौल में वार्ता संभव नहीं। इससे पहले भी सुप्रीम कोर्ट के मध्यस्थ बुधवार को पहली बार शाहीन बाग गए थे। इस दौरान उन्होंने प्रदर्शनकारियों से वार्ता करने की कोशिश की थी। लेकिन प्रदर्शनकारियों और मध्यस्थों के बीच हुई बातचीत को कोई भी नतीजा नहीं निकल सका।

68 दिनों से चल रहा है प्रदर्शन

शाहीन बाग में CAA और NRC के खिलाफ 68 दिनों से विरोध प्रदर्शन हो रहा है। वार्ता के दूसरे दिन मध्यस्थों ने कहा कि कोई नहीं चाहता किसी को तकलीफ हो। ऐसी कोई चीज नहीं जिसका हल न हो।

आज प्रदर्शनकारियों और मध्यस्थों के बीच बातचीत के दौरान सुप्रीम कोर्ट की तरफ से बातचीत करने आईं साधना रामचंद्रन नाराज़ हो गयी हैं। बताया जा रहा है कि वहां मौजूद एक प्रदर्शनकारी ने सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका को ग़लत कह दिया है जिसे सुनते ही साधना रामचंद्रन काफी नाराज़ हो गयीं। उन्होंने गुस्से में कहा कि यहां बात करने का माहौल नहीं है और अगर ऐसा ही चलता रह तो हम बात करने नहीं आएंगे। हालांकि बाद में उन्होंने कहा कि हम शुक्रवार को अलग-अलग जगह पर 10-15 महिला प्रदर्शनकारियों के साथ बात करना चाहेंगे, क्यों की यहां बात करने लायक माहौल नहीं है।

बता दें कि जब वार्ताकार साधना रामचंद्रन बुधवार को प्रदर्शनकारियों को समझा रही थीं कि नागरिकता संशोधन एक्ट से आप लोगों को कोई नुकसान नहीं होगा। इस दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों ने कहा कि हमें पता है कि सीएए क्या है, आपको बताने की जरूरत नहीं है, जबकि कुछ प्रदर्शनकारी वार्ताकार के स्पीच को बहुत ही गंभीरता से सुन रहे थे।

वार्ताकार साधना रामचंद्रन ने कहा कि हमें सोच समझकर आगे बढ़ना है, दो महीने से ये सड़क बंद है। हम आपकी इच्छा समझना चाहते हैं। हम किसी की समस्या नहीं देख सकते हैं। हम जानना चाहते हैं कि आप क्या चाहते हैं। मध्यस्थ साधना रामचंद्रन ने कहा कि प्रदर्शन से किसी को परेशानी नहीं होनी चाहिए। वहीं संजय हेगड़े ने कहा कि ऐसे माहौल में वार्ता संभव नहीं है। अभी इस मसले का कोई हल निकलता नहीं दिख रहा है।

प्रदर्शनकारी जहां एक तरफ मीडिया के सामने बातचीत करना चाहते हैं वहीं बताया जा रहा है कि मध्यस्थ मीडिया के सामने बातचीत नहीं करना चाहते। इसके अलावा प्रदर्शनकारियों ने आंदोलन की जगह बदलने से मना कर दिया है।

15 दिसंबर से हो रहा है प्रदर्शन

बता दें, शाहीन बाग में संशोधित नागरिकता कानून (CAA), एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ मुस्लिम समुदाय के लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। यह प्रदर्शन 15 दिसंबर से लगातार जारी है। इन प्रदर्शनों पर दिल्ली चुनाव के दौरान भी काफी राजनीति भी हुई। सुप्रीम कोर्ट की तरफ से नियुक्त मध्यस्थों ने मीडिया से बातचीत में कहा कि वे रविवार तक प्रदर्शनकारियों से बातचीत जारी रखेंगे।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •