शहीद गरुड़ कमांडो निराला की बहन की शादी में शामिल हुए साथी गरुड़ कमांडो, भाई का फ़र्ज़ निभाया

 

Martyr Commando Nirala 's sister wedding

पुरे गाँव की आँखें उस समय ग़मगीन हो गयी अब एक शहीद साथी के बहन की शादी में साथी गरुड़ कमांडो शामिल हुए और अपने शहीद साथी के बदले भाई होने का फ़र्ज़ अदा किया| मौका था मरणोपरांत अशोक चक्र से सम्मानित गरुड़ कमांडो ज्योति प्रकाश निराला की बहन की शादी का, जिसका गवाह बना बिहार के रोहतास जिले का बादिलडिह गाँव|

कौन थे ज्योति प्रकाश निराला?

ज्योति प्रकाश निराला भारतीय वायुसेना की गरुड़ कमांडो फ़ोर्स के सदस्य थे और ऑपरेशन रक्षक का हिस्सा बनके जम्मू और कश्मीर में तैनात थे| 18 नवम्बर, 2017 को चंद्रगढ़ गाँव में आतंवादियों के साथ मुठभेड़ में निराला शहीद हुए थे| खुद गोली लगने के बावजूद निराला ने दो आतंकवादियों को मार गिराया और बाकि साथियों की जान बचाई थी| निराला ने जिन आतंकवादियों को मार गिराया वो लश्कर-ए-तैयबा के नामी आतंकवादी थे| इस पुरे मुठभेड़ में छह आतंकवादी शहीद हुए थे|

निराला को अपने अदम्य साहस, बहादुरी और बलिदान के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 26 जनवरी, 2018 को मरणोपरांत अशोक चक्र से सम्मानित किया था|

एक भाई के बदले सौ भाइयों ने बहन को विदा किया

चार बहनों के अकेले भाई निराला अपने परिवार के एकमात्र कमानेवाले व्यक्ति थे| निराला अपनी बहनों के आँखों के तारे थे और वो भी अपनी बहनों पर जान छिड़कते थे| अपनी बहन की शादी में खुद निराला उपस्थित नहीं थे|

लेकिन पूरा गाँव अश्रुपूर्ण आँखों से उस भावुक क्षण को देख रहा था जब बहन शशिकला विदा होने लगी तो एक शहीद भाई की कमी को पूरा करने 100 भाई हथेलियाँ बिछाये खड़े थे| वायुसेना के जवानों ने अपने शहीद साथी की कमी उनके परिवार को नहीं खलने दी|

कैसी खुशनसीब होगी वो बहन जिसने अपना एक भाई देश के नाम पर खोया लेकिन जिसे विदा करने पुरे देश के कोने-कोने से 100 भाई खड़े हो गए|