लो जान लो पहले चरण में क्यो नही लगवाई थी मोदी जी ने वैक्सीन

देश की सियासत का आलम ये हो गया है कि मुद्दा कोई भी क्यो न हो घूमफिर कर वो कही न कही देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड जाता है। अब कोरोना वैक्सीन के मुद्दे को ही ले लो विपक्ष पहले तो ये कहते नही थक रहा था कि मोदी जी थाली, दिया जलवा रहे हो मंदिर, संसद बनवा रहे हो। लेकिन कोरोना वैक्सीन को लेकर क्या कदम उठा रहे हो देखो देखो। दूसरे देशों ने इस ओर एक कदम आगे बढ़कर वैक्सीन बना ली है और अब जब वैक्सीन देश में बनकर तैयार हुई तो पूछ रहे थे कि देशी वैक्सीन मोदी जी क्यो नही लगवा रहे। मतलब उन्हे तो मोदी मोदी ही करना है फिर मुद्दा कोई भी हो ऐसे लोगों हम बताना चाहते है कि मोदी जी दूसरे चरण में वैक्सीन लगवायेगे और इतना ही नही उनके साथ कई सीएम भी वैक्सीन लगवायेंगे।

दूसरे चरण में मोदी जी के लगेगी वैक्सीन

जो लोग मोदी जी पर वैक्सीन न लगवाने को लेकर सियासत कर रहे थे उन्हे ये बता दें कि मोदी जी ने आखिर पहले फेज में वैक्सीन क्यो नही लगवाई थी चलो हम आपको बता देते है मोदी जी ने खुद ऐलान किया था कि सबसे पहले उन लोगो को वैक्सीन दी जायेगी जिन्हे इसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी इसलिये पहले हैल्थ वर्करों को वैक्सीन दी गई जबकि दूसरे चरण में 55 साल से अधिक लोगो के साथ साथ दूसरे लोगो को वैक्सीन देना तय हुआ था बस इसीलिये पहले चरण में मोदी जी को वैक्सीन नही लगी थी लेकिन सियासत करने वाले कुछ बड़बोलो को ये नही पता था इसलिये मोदी जी वैक्सीन क्यो नही करवा रहे चिल्ला रहे थे। मतलब इतनी सी बात नही पता था और बस मोदी मोदी चिल्ला रहे थे।

अब तक 7 लाख से ज्यादा लोगो को लग चुकी वैक्सीन

पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंट लाइन वर्कर्स को टीका दिया जा रहा है। टीकाकरण अभियान के पहले दिन 2 लाख से अधिक दूसरे दिन 17 हजार से अधिकतीसरे दिन 1.5 लाख के करीब चौथे दिन 1 लाख 77 हजार कोरोना वॉरियर्स को वैक्सीन दी गई थी। यानी की अभी तक करीब 7 लाख से अधिक लोगों को देश में वैक्सीन लगाई जा चुकी है। जबकि सबसे बड़ी बात ये है कि अभी तक देस में तैयार हुई दोनो वैक्सीन का कोई भी नकरात्मक प्रभाव देखने को नही मिला है जिसकी तारीफ विश्व भी कर रहा है तभी भूटान, बांग्लादेश, नेपाल सहित मालदीव वैक्सीन पहुंच गई है।

इसके साथ साथ WHO ने भी वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर दी है। कयास लगाया जा रहा है कि WHO आने वाले दिनो में इन दोनो वैक्सीन को पूरे विश्व में लागू कर सकती है जो भारत के लिए एक बड़ी कामयाबी होगी और ये सब इस लिये हो रहा है कि क्योकि मोदी जी वक्त वक्त पर नही बल्कि हर वक्त देश का हौसला बढ़ाते रहते है।