सुरक्षा हुई और मजबूत: 2 मीटर दूर बम ब्लास्ट को भी झेल जाएगी पीएम मोदी की नई कार

कहते है जिसकी ख्याति जितनी बढ़ती जाती है उसके दुश्मन भी उतने ज्यादा बढ़ते जाते हैं और इस बात पर कोई शक नहीं होगा कि आज दुनिया में पीएम मोदी की ख्याति सबसे ज्यादा हैं। सोशल मीडिया से लेकर जमीन तक पर उनके करोड़ों चाहने वाले हैं। ऐसे में उनके दुश्मनों से उनकी सुरक्षा के लिये अब उनके काफिले में एक नई कार आई है जो दुश्मन की हर साजिश को फेल करने में सक्षम है।

चलती फिरती टैंक है पीएम मोदी की नई कार

पीएम मोदी की नई कार Mercedes-Maybach S 650 में सुरक्षा के सबसे टॉप क्लास के फीचर्स दिए गए हैं। इसकी खिड़की और बॉडी पर AK-47 की गोलियों का भी असर नहीं होगा। इसके अलावा इस कार को एक्सप्लोसिव रेसिस्टेंट व्हीकल (ERV) 2010 रेटिंग मिली है। यानी यह कार महज 2 मीटर के 15 किलोग्राम TNT ब्लॉस्ट को भी बर्दाश्त कर सकती है। इसकी खिड़की पर अंदर की ओर पॉलीकार्बोनेट की कोटिंग की गई है। कार के अंदर धमाके से बचने के लिए भी कई इंतजाम किए गए हैं। यह कार गैस और कैमिकल हमलों को भी बर्दाश्त कर सकती है। इसके अलावा इसमें अलग से एयर सप्लाई की सुविधा दी गई है।

पीएम मोदी की बाहुबली कार

मोदी की यह कार परफॉर्मेंस के मामले में काफी दमदार है। इसमें पावर के लिए 6.0-लीटर का ट्विन-टर्बो V12 इंजन दिया गया है। इसका इंजन 516 bhp का मैक्सिमम पावर और 900 Nm का पीक टॉर्क जेनरेट करता है। इस कार की टॉप स्पीड को 160 किलोमीटर प्रति घंटे तक सीमित रखा गया है। इस कार में स्पेशल रन फ्लैट टायर लगाए गए हैं, जिससे की पंचर होने की हालत में भी यह तेजी से कार को चलने में मदद करेगा। इस कार में सुविधा का खासा ध्यान दिया गया है। यह कार अंदर से चलती फिरती होटल की तरह है। बता दें कि स्टैंडर्ड Maybach S-Class में सीट मसाजर, आसामदायक सीट और लंबा लेगरूम मिलता है।

पीएम मोदी ने नहीं बल्कि  SPG ने मंगाई है कार

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रधानमंत्री की नई कार की मांग स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप यानी कि SPG की तरफ से की गई थी। यहां जानना जरूरी है कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी SPG की होती है। प्रधानमंत्री की सुरक्षा और सुविधा को देखते हुए यह SPG तय करती है कि नई कार की जरूरत है या नहीं। SPG की तरफ से दो कारों का ऑर्डर दिया गया था। इन दो कारों में से प्रधानमंत्री एक कार में बैठे रहेंगे। बाकी, दूसरी कार केवल काफिले में चलेगी। यह इसलिए किया जाता है कि दुश्मन यह न पता लगा सके कि प्रधानमंत्री किस कार में बैठे हैं।

पीएम मोदी की सुरक्षा में आई इस कार का जिक्र इसलिये भी करना जरूरी है क्योकि इसका भी विरोध विपक्ष के लोग करेंगे। जबकि ये सब अच्छी तरह से जानते है कि हमारे प्रधानसेवक की जान की कीमत इस वक्त क्या है। ऐसे लोगो द्वारा अगर अफवाह इस कार को लेकर पीएम मोदी के लिए उड़े तो तुरंत इस लेख को दिखाकर आप उनके झूठ को बेनकाब करियेगा।