आर्थिक मोर्चे पर राहत भरी खबर लेकर आया शनिवार

त्योहार के इस सीजन में सरकार और आम लोगों के लिये खुशी लेकर आया शनिवार क्योकि एक तरफ जहां 8 महीने के बाद GST  1 लाख करोड़ के पार पहुंचा है तो सरकार ने आम लोगों को लोन मोरोटोरियम को लेकर राहत भरी गाइडलाइंस जारी की है। सरकार ने क्या ऐलान किया है हम आपको बताते है।

लोन मोरोटोरियम को लेकर सरकार दी बढ़ी राहत

लॉकडाउन के दौरान केंद्र सरकार की तरफ से लोगों को लोन की ईएमआई भरने को दी गई राहत के बाद बैंकों ने ब्‍याज पर ब्‍याज लगाना शुरू कर दिया था। लेकिन अब इस मामले पर सरकार ने लोगों को बढ़ी राहत दी है। सरकार ने ऐलान किया है कि वो खुद इसके तहत 2 करोड़ रुपये तक के कर्ज पर छह महीने के लिए दी गई मोहलत के दौरान चक्रवृद्धि ब्याज और साधारण ब्याज के बीच अंतर के बराबर राशि का भुगतान केंद्र सरकार की तरफ से किया जाएगा। केंद्र सरकार ने बताया है कि जिन्होंने होम लोन, एजुकेशन लोन, क्रेडिट कार्ड लोन, ऑटो लोन, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स लोन लिया हुआ है, उन्हें इसका फायदा मिलेगा। बैंक चक्रवृद्धि ब्याज और साधारण ब्याज के बीच जो राशि है, उसे ग्राहक के लोन अकाउंट में डालेंगे। फिर सरकार बैंक को उस राशि पर क्लेम करने के बाद भुगतान करेगी। सरकार के इस फैसले से करीब 6500 करोड़ रुपये का बोझ भारत सरकार पर आएगा।  इसके साथ ही जिन्होंने लोन मोरोटोरियम का फायदा नहीं लिया, उन्हें भी योजना का लाभ मिलेगा। नई गाइडलाइंस के साथ, इस योजना का लाभ 1 मार्च से 31 अगस्त, 2020 की अवधि तक लोन के ब्‍याज पर ब्‍याज किया जाएगा। सरकार से इस फैसले के बाद उन लोगो को त्योहार के वक्त एक बड़े टेंशन खत्म हो गई होगी जो लगातार लोन चुकता करने को लेकर परेशान थे।

8 महीने बाद GST 1 लाख करोड़ के पार पहुंचने की उम्मीद

कोरोना के कारण खराब चल रही देश की अर्थव्‍यवस्‍था के लिए 8 महीने बाद शनिवार का दिन राहत की खबर  लेकर आया है। क्‍योंकि इस GST  संग्रह पहली बार अक्टूबर में 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक होने की उम्मीद है। उपलब्ध आंकड़ों से पता चलता है कि महीने में जीएसटी राजस्व में बढ़ोतरी मजबूत रही है, क्योंकि अधिक कारोबार लॉकडाउन के बाद फिर से खुलने लगे हैं। त्योहारी सीजन में घरेलू खपत और आर्थिक गतिविधि में तेजी आई है। अधिकारियों ने कहा कि जीएसटी रिटर्न दाखिल करने से अक्टूबर में अप्रत्यक्ष कर संग्रह 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक हो सकता है। जीएसटी फॉर्म नंबर 3 बी (जीएसटीआर-3 बी) के माध्यम से दाखिल किए गए रिटर्न को देखकर लगाया जा रहा है  जो एक अच्छी खबर है क्योकि सरकारी खजाने में आमदनी बढ़ने का फायदा देश के विकास की गति में देखने को मिलेगा।

वैसे आर्थिक मोर्चे को रफ्तार देने के लिये मोदी सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को त्योहार से पहले बोनस और LTA के साथ साथ 10 हजार का एडवांस पैसा लेने की जो स्कीम निकाली है उससे भी जनकार मान रहे है कि देश की बाजार में रौनक लौटेगी। ऐसे में लोन को लेकर राहत देने वाली ये खबर लोगों के चेहरे पर मुस्कान लायेगी ये पक्का है।