रूसी विदेश मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से की मुलाकात

Russia_Foreign_Minister

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि 2020 भारत और रूस द्वारा पिछले साल लिए गए द्विपक्षीय फैसलों को लागू करने वाला वर्ष होना चाहिए। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) द्वारा एक बयान में कहा गया है कि उन्होंने (मोदी ने) यह टिप्पणी उस वक्त की, जब रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की।

रूस के विदेश मंत्री श्री सर्जेई लेवरोव रायसीना डायलॉग में भाग लेने के लिए भारत की यात्रा पर आए हुए हैं। विदेश मंत्री लेवरोव ने प्रधानमंत्री को रूस के राष्ट्रपति श्री व्लादिमीर पुतिन की ओर से शुभकामनाएं दी। प्रधानमंत्री ने नववर्ष पर रूस की जनता की शांति और समृद्धि की कामना करते हुए उन्हें शुभकामनाएं दी।

प्रधानमंत्री ने 13 जनवरी, 2020 को टेलीफोन पर राष्ट्रपति पुतिन के साथ हुई विस्तृत बातचीत और पिछले वर्ष में दोनों देशों के बीच विशेष और विशेषाधिकार वाली रणनीतिक साझेदारी में हुई प्रगति का जिक्र किया।

विदेश मंत्री ने कहा कि राष्ट्रपति पुतिन विजय दिवस के 75वें वार्षिक समारोह में भाग लेने के लिए मई 2020 में प्रधानमंत्री श्री मोदी की रूस यात्रा और ब्रिक्स तथा एससीओ शिखर सम्मेलनों के लिए जुलाई 2020 में होने वाली यात्रा का इंतजार कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने राष्ट्रपति पुतिन के साथ इस वर्ष मिलने वाले अनेक अवसरों का स्वागत किया और कहा कि वह भी इस वर्ष के अंत में वार्षिक द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन के लिए भारत में राष्ट्रपति पुतिन की मेजबानी का बेसब्री से इंतजार कर रहे है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देशों के बीच 2019 में अनेक महत्वपूर्ण फैसले किए गए और उनके नतीजे सामने आए। उन्होंने सुझाव दिया कि वर्ष 2020, जो भारत और रूसी संघ के बीच रणनीतिक साझेदारी की स्थापना का 20वां जयंती वर्ष है, उसे उन फैसलों के कार्यान्वयन का वर्ष होना चाहिए।

विदेश मंत्री लेवरोव ने प्रधानमंत्री को महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर रूस के रूख से अवगत कराया।