रूस ने एस -400 मिसाइलों के भारत में उत्पादन पर चर्चा की: रोस्टेक सीईओ

मॉस्को भारत में एस -400 एयर डिफेंस सिस्टम का उत्पादन शुरू करने पर नई दिल्ली के साथ बातचीत कर रहा है

रूस के रोस्टेक राज्य निगम के सीईओ सर्गेई चेमेज़ोव ने रविवार को कहा की मास्को नई दिल्ली के साथ भारत में एस -400 एयर डिफेंस सिस्टम का उत्पादन शुरू करने पर बातचीत कर रहा है।

चेमेज़ोव ने बताया की “हम भारत के साथ एस -400 उत्पादन के स्थानीयकरण पर चर्चा कर रहे हैं,” भारत ने पहले ही एसयू -30 फाइटर जेट और टी -90 टैंक के उत्पादन के लिए लाइसेंस प्राप्त कर लिया है।

Moscow is holding talks with New Delhi on starting the production of S-400

आपको ज्ञात होगा की भारत ने पिछले साल अक्टूबर में नई दिल्ली में 19 वें भारत-रूस वार्षिक द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन के दौरान रूस के साथ पाँच एस -400 की खरीद के लिए 5.43 अरब डॉलर के समझौते पर हस्ताक्षर किए थे।

चेमेज़ोव ने कहा की “हमने पहले भी भारत के साथ मिलकर, उनके वैज्ञानिकों के साथ ब्रह्मोस मिसाइलें विकसित की है “।

गौरतलब है की पिछले महीने विदेश मंत्री एस जयशंकर द्विपक्षीय सहयोग को आगे बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा करने के लिए अपने रूसी समकक्ष सर्गेई लावरोव से मिलने के लिए मास्को में थे।

रूसी उप प्रधान मंत्री यूरी बोरिसोव ने कहा था कि एस -400 एयर डिफेंस सिस्टम को अनुसूची के अनुसार तय समय सीमा में भारत को सौप दिया जाएगा। साथ ही बोरिसोव ने कहा, “अग्रिम भुगतान प्राप्त हो गया है और सबकुछ लगभग 18-19 महीनों के भीतर शेड्यूल के अनुसार दिया जाएगा।”