भारत का रहने वाला हूं भारत की बात सुनाता हूं

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप अपने भारत दौरे के दौरान अहमदाबाद शहर में एक कार्यक्रम करने जा रहे है जिसके लिये शहर को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है। लेकिन इस पर भी कुछ लोग तंज कसते हुए मोदी सरकार पर निशाना साध रहे है। लेकिन ऐसा करने वाले ये नहीं जानते या जानकर भी अनजान बन रहे है कि पीएम मोदी ही है जिन्होने विदेश से आये मेहमानों को असल भारत से रूबरू करवाया है।

पहले भी देश में विदेशी राष्ट्र अध्यक्ष आते थे लेकिन वो सिर्फ राजधानी दिल्ली में ही बैठक करते थे और अपने देश वापस चले जाते थे। लेकिन पीएम मोदी के सत्ता में आने के बाद इस युग का अंत हुआ और सही मायने में अतुल्य भारत का दर्शन विदेशी मेहमान कर सके और भारत की छवि दुनिया के सामने कुछ और बनकर उभर सकी। आइये जानते हैं वो कौन-कौन से बड़े विदेशी नेता हैं, जिन्होंरने पीएम नरेंद्र मोदी के न्योाते पर भारत का दौरा किया और पीएम ने दिल्ली के अलावा उन्हे भारत के दर्शन करवाये।

‘अतुल्य भारत’ का सही दर्शन पीएम मोदी ने करवाया

• फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन अपनी भारत यात्रा के दौरान पीएम मोदी के साथ उत्तर प्रदेश के वाराणसी और मिर्जापुर ले गये थे।
• यूरोपीय देशों के प्रमुखों को मुंबई में मेक इन इंडिया सप्ताह में भाग लेने के साथ साथ मुंबई के इतिहास से जुड़ी कई गाथा का भी बखान करके देश की आर्थिक राजधानी को विदेशियों के सामने प्रस्तुत किया।
• जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल भारत भ्रमण पर आई तो उन्हे मोदी जी बेंगलुरु के बॉश रिसर्च सेंटर लेकर गये।
• दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जे-इन ने दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री का उद्घाटन करने के लिए नोएडा मेट्रो से लेकर भारत का दर्शन करवाया।
• इवांका ट्रंप का भारत यात्रा के दौरान ग्लोबल एंटरप्रेन्योरशिप समिट के लिए हैदराबाद में स्वाेगत किया गया था।
• कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने अमृतसर में स्वर्ण मंदिर, गुजरात और मुंबई में साबरमती आश्रम का दौरा किया।
• दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम जंग-सूक पिछले साल उत्तर प्रदेश के अयोध्या में दीपावली समारोह को देखने के लिए एक विशेष आमंत्रित सदस्य थीं
• मॉरीशस के पीएम प्रविंद कुमार जुगनाथ का पिछले साल जनवरी में प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम के लिए वाराणसी में स्वागत किया गया था
• पीएम मोदी ने चंडीगढ़ में पूर्व फ्रांसीसी राष्ट्रपति हॉलैंड की मेजबानी की, जहां उन्होंने रॉक गार्डन का दौरा किया।
• चीन के राष्ट्रपति भारत आये तो दक्षिण भारत के शहर महाबलीपुरम में स्वागत किया।
• जापान के पीएम शिंजो आबे को बनारस में गंगा आरती के दर्शन करवाये।

ऐसे में पीएम पर कुछ लोगो का तंज सिर्फ यही लगता है कि जैसे कोई मुद्दा न हो और बस पीएम का विरोध ही उनका पेशा हो। ऐसे लोग को हमारी तो यही सलाह होगी कि कुछ बोलने से पहले, कुछ देऱ सोच जरूर लेना चाहिये उन्हे, वरना वो कही के न रहेगे।