रेलवे इंजीनियर्स की टीम ने कबाड़ से जुगाड़ कर बनाया राफेल का जीता जागता प्रतिबिम्ब

रेलवे इंजीनियरों ने Raafle का मॉडल किया तैयार

वैसे तो सितम्बर तक भारतीय वायुसेना के बेड़े में फ्रांस के राफेल लड़ाकू विमान शामिल हो जायेंगे और इसे लेकर सिर्फ वायुसेन के जवानों में ही नहीं बल्कि देश की जनता में भी खासा उत्साह नज़र आ रहा है| अपने उत्साह का उम्दा उदहारण प्रस्तुत किया है लखनऊ के रेलवे इंजिनियरस ने।

जी हाँ लखनऊ में स्थित लोको वर्कशॉप के 8 इंजीनियरों की टीम ने मिलकर करीब 45 दिन के अवधि में राफेल लड़ाकू विमान का यह बेहतरीन मॉडल तैयार किया है जो देखने में हुबहू असली राफेल के जैसा है| आपको बता दे की इंजीनियरों ने इंटरनेट पर मौजूद राफेल की तस्वीरों के आधार पर ही इस अनोखे मॉडल को तैयार किया है| इस मॉडल को लोको वर्कशॉप की प्रदर्शनी में डिस्पले किया गया है और इसे लोगों के बीच काफी पसंद किया जा रहा है।

रेलवे इंजिनियर के राफेल मॉडल की बारीकियां

राफेल विमान का यह मॉडल देखने में हुबहू असली विमान जैसा ही है| इस मॉडल की लम्बाई करीब 10 फीट है और इसमें टायर भी लगे हुए है| इस मॉडल का कॉकपिट भी हुबहू असली राफेल के जैसा पारदर्शी और ऊँचा है| इस मॉडल के पिछले हिस्से की डिजाइनिंग बिलकुल असली राफेल विमान के जैसे ही की गई है| राफेल के इस जुड़वाँ मॉडल की सबसे खास बात ये है की इसे रेलवे इंजन के बचे स्क्रैप की मदद से तैयार किया गया है | राफेल के इस मॉडल से आवाज भी आती है| जानकारों का कहना है की ये आवाज असली राफेल के आवाज़ से मिलता-जुलता है।

सूत्रों को लोको वर्कशॉप के अधिकारीयों से मिली जानकारी के मुताबिक रेलवे इंजीनियरों की टीम पहले भी पीएसएलवी और स्टीम लोको का मॉडल तैयार कर चुकी है|

अपने पाठकों को हमने पहले भी इस बात की जानकारी दी थी इसी साल सितम्बर महीने में भारतीय वायुसेना को फ्रांस से उसका पहला राफेल विमान मिलने वाला है| भारतीय वायुसेना की एक टीम इसके लिए फ्रांस के मोंट डे मार्सन एयरबेस पर इंडो-फ्रेच एयरफोर्स के अभ्यास लिए फ्रांस गयी हुई है| राफेल का भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल होने से हमारे देश के सुरक्षा प्रणाली को और भी मजबूती मिलेगी और युद्ध के दौरान दुश्मनों को धुल चटाने में ये कारगर साबित होगी।