गोल्डन एरो स्क्वाड्रन का हिस्सा बनेगा राफेल विमान

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

एशिया में भारतीय एयरफोर्स की ताकत को कई गुना बढाने वाला राफेल बस चंद घंटो में भारत पहुंचने वाला है। ये विमान भारत के अंबाला एयरबेस पर तैनात किये जाएंगे और भारतीय एयरफोर्स में राफेल विमानों को गोल्डन एरो कही जानेवाली 17 स्क्वाड्रन संभालेगी। इस स्क्वाड्रन का अपना गौरवमय इतिहास रहा है, जिसने पाकिस्तान के साथ हुए दो युद्धों में उसे धूल चटवाई है। वैसे इस स्क्वाड्रन को रिटायर कर दिया गया था लेकिन राफेल के लिए इसे पुनर्जीवित किया गया है।

गोल्डन एरो का इतिहास

गोल्डन एरो 17 स्क्वाड्रन को 1 अक्टूबर 1951 को बनाया गया था। फ्लाइट लेफ्टिनेंट डी एल स्पिंगगिट इसके मुखिया थे। उस वक्त में इसमें हावर्ड-II बी एयरक्राफ्ट होते थे। फिर 1957 में इसमें हॉकर हंटर एयरक्राफ्ट आ गए, फिर 1975 में मिग-21 ने इसमें जगह पाई। भारत-पाक जंग में गोल्डन एरो की हिस्सेदारी  की बात करें तो वो काफी अधिक थी। गोल्डन एरो 17 स्क्वाड्रन ने गोवा लिब्रेशन कैंपेन (दिसंबर 1961) में हिस्सा लिया था। फिर 1971 में भारत-पाक जंग में गोल्डन एरो 17 स्क्वाड्रन एयर सपॉर्ट का हिस्सा रही। फिर 1999 में गोल्डन एरो 17 स्क्वाड्रन ने करगिल युद्ध के दौरान ऑपरेशन सफेद सागर में हिस्सा लिया और दुश्मन के दाँत खट्टे कर दिये थे।

रिटायर हो चुकी थी गोल्डन एरो 17 स्क्वाड्रन

राफेल फाइटर जेट भारत आ रहे हैं। इन्हें गोल्डन एरो 17 स्क्वाड्रन में शामिल किया जाएगा। बता दें कि इस स्क्वाड्रन को 2016 में नंबर प्लेटिड कर दिया गया था। एयरफोर्स की भाषा में नंबर प्लेटिड करना मतलब स्क्वाड्रन को सर्विस से रिटायर करना। उस वक्त इसमें मिग-21 एयरक्राफ्ट थे, जिन्हें धीरे-धीरे एयरफोर्स से हटाया जा रहा था। लेकिन अब इस स्क्वाड्रन को फिर से जीवित किया गया है। कमाल की बात यह भी है कि बीएस धनोवा जो एयर फोर्स चीफ मार्शल बने वे कभी इस स्क्वाड्रन के ही कमांडिंग अफसर थे।  वैसे राफेल जैसे अजय विमान को भारत ने वैसे ही अजय स्क्वाड्रन में रखने का फैसला ये बताता है कि अब अगर दुश्मन दुश्मनी पर उतरा तो उसकी खाट खड़ी कर दी जायेगी।

कुल मिलाकर राफेल के आने के बाद भारत की शक्ति अपने पड़ोसी मुल्कों से दोगुनी हो जायेगी क्योंकि पाक और चीन दोनो जिस तरह के विमान प्रयोग करते है उससे राफेल काफी ज्यादा नये तकनीक से लैस है। जो दुश्मनो के छक्के छुड़ाने में माहिर होगा।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply