स्वच्छता की अनदेखी करने की सजा – पूरे मोहल्ले पर FIR दर्ज

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Punishment for ignoring cleanliness

स्मार्ट सिटी की दौड़ में शामिल लखनऊ शहर से एक आश्चर्यजनक वाकया सामने आया है, जहाँ गंदगी फैलाने की वजह से किसी खास व्यक्ति या परिवार को नहीं बल्कि पुरे मोहल्ले को खामियाजा भुगतना पड़ा है|

पूरे मोहल्ले के खिलाफ FIR

ये घटना है उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मोहनलालगंज कसबे के संकट मोचन मन्दिर बस्ती की, जहाँ गंदगी फैलाने की वजह से प्रशासन के अधिकारियों द्वारा पूरी बस्ती के ऊपर मुकदमा दायर करवाया गया है|

सूत्रों के अनुसार संकट मोचन मन्दिर बस्ती में चारो और फैली गंदगी और गंदे जल जमाव के लिए तहसील दिवस पर डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट से शिकायत की गयी थी| इसके पहले स्थानीय ब्लॉक प्रशासन द्वारा कई बार सम्बंधित लोगों को नोटिस भी जारी किया गया था लेकिन बार बार सरकारी नोटिस के बावजूद किसी ने एक न सुनी तो हार कर प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा बाकायदा FIR दर्ज करवाया गया|

संकट मोचन मन्दिर बस्ती में करीब 55 परिवार रहते हैं और इस FIR की जद में ये सभी 55 परिवार हैं|

बस्तीवासियों ने लगाया प्रशासन पर आरोप

स्थानीय निवासियों का कहना है कि पूरे मोहनलाल गंज इलाके का कचरा संकट मोचन मन्दिर बस्ती स्थित तालाब में फेंका जाता है| और इस बस्ती में फैली गंदगीकी वजह यही है| इस गंदगी की वजह से फैली बिमारियों के चलते मौत भी होती है| इसी कारणवश हमने तहसील दिवस पर अपनी समस्या डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के सामने रखी थी, और इस समस्या के समाधान की गुहार लगायी थी| परंतु गंदगी की समस्या का समाधान होने के बदले उलटे हमारे ऊपर ही शिकायत दर्ज हो गयी|

खैर मामला तो अभी संज्ञान में है, लेकिन इस वाकये से दो बातें खुले तौर पर ज़ाहिर होती है| पहला तो ये की अगर बस्ती वाले सच कह रहे हैं तो सफाई और स्वच्छता के प्रति उनकी रूचि ज़ाहिर होती है| हालाँकि सिर्फ रूचि से सफाई कायम रखना थोडा मुश्किल है अगर सम्बंधित विभागों का सहयोग न मिले| दूसरा की अगर गलती बस्तीवालों की है तो प्रशासन की मुस्तैदी का जवाब नहीं, जिन्होंने पुरे मोहल्ले पर कारर्वाई कर डाली|

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •