जनता मोदी जी से करती है इतना प्यार, बनवा दिये उनके मंदिर

एक दौर देखा जाता था, जब नेताजी पहले सरकारी योजना की घोषणा करते थे, फिर उस योजना को हरी झंडी दिखाते थे, लेकिन योजना आम आदमी तक न पहुंचकर सरकारी दफ्तरों के बाबुओं की अलमारियों में ही दमतोड़ा करती थी। जिसका असर ये देखा जाता था, कि जनता बाद में नेता जी को सिर्फ घोषणा वाले नेता जी के नाम से ही पुकारती थी, लेकिन अब ऐसा नही है पिछले 6 साल में जब से मोदी सरकार सत्ता में आई है, तब से ही घोषणा होती है, योजना की शुरूआत की जाती है और वो जनता तक पहुंचती भी है। तभी तो मोदी जी की दिवानगी का आलम ये है कि उत्तर हो या दक्षिण पूरब हो या पश्चिम हर तरफ मोदी जी के मंदिर देश में बनने लगे है।

तमिलनाडु में किसान ने बनाया PM मोदी का मंदिर

तमिलनाडु के त्रिची में एक किसान ने जिसका नाम पी शंकर है उसने अपनी जमीन पर पीएम मोदी का मंदिर बनया है। किसान की माने तो उसने ये मंदिर इस लिये बनवाया है क्योकि मोदी जी जैसा नेता उसने अपनी 50 साल कि उम्र में नही देखा है जो जनता से किये हुए सभी वायदे पूरा करते है । किसान की माने तो प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना समेत कई केंद्रीय योजनाओं का फायदा आज उसे सीधे मिल रहा है जिसके चलते उसने पीएम का मंदिर बनवाया है।

पीएम मोदी को विकास के देवता के रूप में पूजते है कटिहार के लोग

ये सुन कर आप चौक गये होगे लेकिन ये सच है. बंगाल से सटे बिहार के शहर कटिहार के आनंदपुर गांव में मोदी जी का मंदिर बनाया गया है और हर रोज पीएम मोदी की मूर्ति की यहां पूजा की जाती है। गांव वालो का कहना है कि मोदी जी विकास के देवता है उनके गांव में मोदी जी के आने से पहले किसी भी तरह की सुविधा नही थी लेकिन मोदी सरकार के बनते ही आज गांव में पक्की सड़क, बिजली, शौचालय जैसी मुलभूत सुविधाओं का विस्‍तार हुआ है। ऐसे में मोदी जी की पूजा न की जाये तो क्या किया जाये।

देश में और कहां-कहां हैं नरेंद्र मोदी के मंदिर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंदिर देश के अन्य राज्यों में भी बने हैं और बन रहे हैं. यूपी के मुजफ्फरनगर में मुस्लिम महिलाओं ने तीन तलाक बिल पास होने के बाद मोदी मंदिर का निर्माण शुरू किया है। मेरठ के सरधना में भी 2017 में एक रिटायर्ड इंजीनियर ने पांच एकड़ जमीन पर पीएम मोदी की 100 फीट ऊंची प्रतिमा और मंदिर बनाने का ऐलान किया है, गुजरात के राजकोट में भी पीएम मोदी का एक मंदिर बनाया जा रहा है। जहां से पीएम मोदी पहली बार 2002 में गुजरात विधानसभा पहुंचे थे। 2015 में इलाहाबाद के एक गांव में भी पीएम मोदी के मंदिर की नींव रखी गई है।

ऐसे में तो हम यही कहेगे कि मोदी जी द्वारा किये जा रहे काम का ही असर है कि आज लोग उन्हे भगवान की तरह पूजने लगे है। हालंकि कई मौके पर खुद पीएम ने ऐसा न करने की लोगों से अपील की है लेकिन कुछ भी हो ,मोदी जी से लोगो का प्यार है जो लगातार बढ़ता ही जा रहा है।