ब्रिक्स सम्मेलन: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ब्रिक्स देशों के बीच व्यापार और निवेश पर जोर दिया

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

BRICS Summit 2019

आज ब्राजील की राजधानी ब्रासीलिया में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्स समिट के मुख्य सत्र को गुरुवार को संबोधित किया। उन्होंने कहा, “आतंकवाद के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था को 1 ट्रिलियन डॉलर का नुकसान होता है। यह विकास, शांति और समृद्धि के लिए सबसे बड़ा खतरा है। इससे विकासशील राष्ट्रों की आर्थिक वृद्धि 1.5% कम हो गई है।”

सत्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ब्रिक्स देशों का आपसी व्यापार विश्व व्यापार का मात्र 15 प्रतिशत है। प्रधानमंत्री ने कहा कि शिखर सम्मेलन की थीम, अभिनव भविष्य के लिए आर्थिक विकास, पूरी तरह उपयुक्ता है। उन्होंने कहा कि नवाचार विकास का आधार बन गया है। इसलिए आवश्यक हो गया है कि सदस्य् देश इस क्षेत्र में आपसी सहयोग मजबूत करें।

आतंकवाद का उल्लेलख करते हुए मोदी ने कहा, “आतंकवाद, टेरर फंडिंग, ड्रग ट्रैफिकिंग और संगठित अपराध द्वारा निर्मित वातावरण से व्यापार और कारोबार को नुकसान पहुंचता है। मुझे खुशी है कि आतंकवाद से मुकाबला करने के लिए ब्रिक्स रणनीति विषय पर सेमिनार का आयोजन किया गया।’’

उन्होंने कहा कि आतंकवाद विकास, शांति और खुशहाली के लिए सबसे बड़ा खतरा है।

जल मुद्दे पर बैठक का प्रस्ताव

मोदी ने कहा कि शहरी क्षेत्रों में जल प्रबंधन और स्वच्छता महत्वपूर्ण चुनौतियां हैं। उन्हों ने ब्रिक्स के सदस्य देशों के जल मंत्रियों की पहली बैठक भारत में आयोजित करने का प्रस्ताव किया। अपनी सरकार की ‘फिट इंडिया मूवमेंट’ पहल का उल्लेख करते हुए पीएम ने कहा, ‘हाल ही में भारत में हमने फिट इंडिया मूवमेंट शुरू किया है। मैं चाहता हूं कि फिटनेस और स्वास्थ्य क्षेत्र में आदान-प्रदान बढ़े।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्स देशों के नेताओं ने संयुक्त राष्ट्र संघ को मजबूत करने के लिए इसमें तत्काल सुधार करने पर जोर दिया। नेताओं ने विकासशील देशों के सामने आ रही अहम चुनौतियों से निपटने के लिए विश्व व्यापार संगठन और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष में भी सुधार की जरूरत पर बल दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्स सदस्य देशों से अगले समिट तक 500 बिलियन डॉलर के अंतर ब्रिक्स व्यापार का लक्ष्य हासिल करने के लिए ब्रिक्स व्यापार परिषद को एक रोडमैप बनाने का सुझाव दिया।

इससे पहले पीएम मोदी ने ब्रिक्स बिजनेस फोरम के समापन समारोह को संबोधित करते हुए ब्रिक्स देशों से कहा कि भारत में निवेश करने की असीम संभावनाएं हैं। उन्होंने भारत को दुनिया की सबसे खुली एवं निवेश के लिए अनुकूल अर्थव्यवस्था बताते हुए ब्रिक्स देशों की कंपनियों और कारोबारियों से भारत में निवेश करने और वहां मौजूद असीम संभावनाओं तथा अनगिनत अवसरों का लाभ उठाने का आग्रह किया।

बता दे कि ब्राजील की राजधानी ब्राजीलिया में आयोजित 11वें ब्रिक्स सम्मेलन में सदस्य देश ब्राजील, रूस,भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्र्राध्यक्ष हिस्सा ले रहे हैं। ब्राजील ब्रिक्स समूह का वर्तमान में अध्यक्ष है जो कि 3.6 अरब लोगों या विश्व की आधी जनसंख्या का प्रतिनिधित्व करता है और इनका सम्मिलित सकल घरेलू उत्पाद (GDP) 16,600 अरब डॉलर है।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •