धर्मशाला में प्रधानमंत्री मोदी ने ग्लोबल इनवेस्टर्स मीट का किया उद्घाटन

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पीएम मोदी ने किया हिमाचल इनवेस्टर्स मीट का उद्घाटन (फोटो: twitter.com/PMOIndia)

प्रधानमंत्री ने धर्मशाला में किया इन्वेस्टर समिट ‘राईजिंग हिमाचल’ का उद्धाटन.
पीएम ने कहा- सहज और सर्वसुविधा पूर्ण वातावरण निवेशक के लिए जरूरी.

पूरी दुनिया में अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए मशहूर हिमाचल विकास और निवेश के नए सफर पर निकल चला रहा है। राज्य में निवेश लाने और स्थानीय उद्योगों और सेवा क्षेत्र को विस्तार देने के लिए हिमाचल प्रदेश में पहली बार ग्लोबल इन्वेस्टर मीट, राइजिंग हिमाचल का आयोजन किया जा रहा है, जिसका उद्देश्य है कि देश और दुनिया भर के कारोबारी देव भूमि को अपनी कर्म भूमि बनाएं। दो दिवसीय इन्वेस्टर मीट में देश-विदेश के नामी उद्योग घरानों के उद्योगपतियों सहित 1,720 प्रतिनिधि शरीक हो रहे हैं।

इन्वेस्टर मीट के उद्घाटन सत्र में पीएम के अलावा उनके मंत्रिमंडल के पर्यटन राज्य मंत्री प्रह्लाद एस पटेल, वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह थमांग, बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे, नीति आयोग के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार और केंद्रीय मंत्रालय के अधिकारी भी मौजूद हैं।

गुरुवार को प्रधानमंत्री ने धर्मशाला में वैश्विक निवेशक सम्मेकलन का उद्घाटन करते हुए कहा कि सर्वसुविधा पूर्ण वातावरण निवेशक के लिए जरूरी है साथ ही राज्यों के बीच अच्छी स्वस्थ स्पर्धा उद्योगों को वैश्विक स्तर पर आगे बढ़ने में मदद करेगी। मुझे खुशी है कि हिमाचल प्रदेश सरकार भी इसी सोच के साथ निवेश के लिए बेहतर इकोसिस्टम बनाने पर काम कर रही है।

भारत में विकास की गाड़ी नई सोच, नई अप्रोच के साथ 4 Wheels पर चल रही

भारत में विकास की गाड़ी नई सोच, नई अप्रोच के साथ 4 Wheels पर चल रही #IndiaFirst #PMModi

India First यांनी वर पोस्ट केले गुरुवार, ७ नोव्हेंबर, २०१९

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि निवेशक राज्यों को देखकर निवेश करते हैं कि किस राज्य में कितनी छूट मिल रही है। आज भारत में विकास की गाड़ी नई सोच, नई अप्रोच के साथ 4 वील्स पर चल रही है। एक वील सोसायटी का, जो एस्पायरिंग है। एक वील सरकार का, जो नए भारत के लिए एनकरेजिंग है। एक वील इंडस्ट्री का, जो डेयरिंग है और एक वील ज्ञान का, जो शेयरिंग है।

पीएम मोदी ने कल अपने मंत्रिमंडल द्वारा लिए गए फैसले के बारे में बताते हुए कहा कि “केंद्रीय मंत्रिमंडल ने कल लगभग 4.50 लाख मध्यम वर्गीय परिवारों के घर बनाने के सपने को पूरा करने के लिए एक बड़ा फैसला लिया है। इस फैसले से लगभग 4.50 लाख घर खरीदारों को फायदा होगा।“

Global Investors Meet at Dharamshala (फोटो: twitter.com/PMOIndia)

हिमाचल का इन्वेस्टर समिट दूसरे राज्यों से कुछ मामलों में अलग है। राज्य ने फरवरी 2019 से ही देश के अलग अलग राज्यों और विदेशों में इन्वेस्टर समिट के लिए समझौता करने शुरु कर दिया और अब तक करीब 81000 करोड़ रूपए से एमओयू पर हस्ताक्षर हो चुके हैं।

राइजिंग हिमाचल मे 8 मुख्य सेक्टर्स पर फोकस है। राज्य को अच्छी तरह से इस बात का अहसास है कि पर्यटन, खाद्य प्रसंस्करण, आईटी और फार्मा के साथ साथ आयुष राज्य का सबसे बड़ा आकर्षण का केन्द्र है। प्रदेश में निवेश के लिए कारोबारियों को आकर्षित करने के लिए हिमाचल सरकार का एक डेलीगेशन जर्मनी, संयुक्त अरब अमीरात, नीदरलैंड भी गया था और वहां रोड शो आयोजित किए गए थे। महिंद्रा हॉलिडेज और रिजॉर्ट्स ने राज्य में रिजॉर्ट्स और वेलनेस रिजॉर्ट्स की स्थापना के लिए 300 करोड़ रुपये के निवेश का समझौता किया है।

प्रदेश सरकार का दावा है कि राज्य में औद्योगिक बिजली देश में सबसे सस्ती है और राज्य सरकार परियोजनों की तेज मंजूरी, इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास, जैसी खुली और प्रगतिशील नीतियां अपना रही है। राज्य सरकार ‘मेक इन इंडिया’ की तर्ज पर ‘मेक इन हिमाचल’ अभियान को बढ़ावा दे रही है।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •