राष्ट्रनिर्माण में तेजी से काम कैसे होता है उसकी एख झलक है राष्ट्रपति का अभिभाषण

बजट सत्र की शुरूआत राष्ट्रपति जी के अभिभाषण से शुरू हो गई है। अपने अभिभाषण में राष्ट्रपति जी ने मोदी के कामकाज को गिनाया और ये कामकाज साफ तौर पर ये बता रहा है कि आखिर मोदी सरकार ने राष्ट्रनिर्माण के साथ साथ कैसे भारतीय संस्कृति और देश के उन शहीदों को पहचान दिलाई जिन्हे इतिहास में दफना दिया गया था।

Budget 2022: राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ बजट सत्र की शुरूआत, जानें अहम बातें

एक साल से भी कम समय में 150 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन डोज़ लगाने का रेकॉर्ड पार किया

राष्ट्रपति जी ने अपने अभिभाषण में बताया कि कोविड-19 के खिलाफ इस लड़ाई में भारत के सामर्थ्य का प्रमाण कोविड वैक्सीनेशन प्रोग्राम में नजर आया है। हमने एक साल से भी कम समय में 150 करोड़ से भी ज्यादा वैक्सीन डोज़ लगाने का रेकॉर्ड पार किया। आज देश में 90 प्रतिशत से अधिक वयस्क नागरिकों को टीके की एक डोज़ मिल चुकी है, जबकि 70 प्रतिशत से अधिक लोग दोनों डोज़ ले चुके हैं। भारत में बन रही वैक्सीन्स पूरी दुनिया को महामारी से मुक्त कराने और करोड़ों लोगों का जीवन बचाने में अहम भूमिका निभा रही हैं।

आयुष्मान भारत कार्ड से गरीबों को इलाज में बहुत मदद मिली

उन्होंने कहा, ‘सरकार द्वारा 64 हजार करोड़ रुपए की लागत से शुरू किया गया प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत हेल्थ इनफ्रास्ट्रक्चर मिशन एक सराहनीय उदाहरण है। इससे न केवल वर्तमान की स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों को पूरा करने में मदद मिलेगी, बल्कि आने वाले संकटों के लिए भी देश को तैयार किया जा सकेगा। मेरी सरकार की संवेदनशील नीतियों के कारण देश में अब स्वास्थ्य सेवाएं जन साधारण तक आसानी से पहुंच रही हैं। 80 हजार से अधिक हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स और करोड़ों की संख्या में जारी आयुष्मान भारत कार्ड से गरीबों को इलाज में बहुत मदद मिली है।’

सभी गरीबों को हर महीने मुफ्त राशन दिया गया

सरकार की माने तो सरकार ने 8000 से अधिक जन-औषधि केंद्रों के माध्यम से कम कीमत पर दवाइयां उपलब्ध कराकर, इलाज पर होने वाले खर्च को कम किया है। सरकार द्वारा किए गए प्रयासों के परिणामस्वरूप योग, आयुर्वेद एवं पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों की लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है।मेरी सरकार की आस्था, अंत्योदय के मूल मंत्र में है, जिसमें सामाजिक न्याय भी हो, समानता भी हो, सम्मान भी हो और समान अवसर भी हों। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत मेरी सरकार सभी गरीबों को हर महीने मुफ्त राशन दे रही है।

देश का कृषि निर्यात भी रेकॉर्ड स्तर पर बढ़ा

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, ‘मेरी सरकार ग्रामीण अर्थव्यवस्था और देश के किसानों को सशक्त बनाने के लिए निरंतर काम कर रही है। सरकार ने रेकॉर्ड उत्पादन को ध्यान में रखते हुए रेकॉर्ड सरकारी खरीद की है. सरकार के प्रयासों से देश का कृषि निर्यात भी रेकॉर्ड स्तर पर बढ़ा है। वर्ष 2020-21 में कृषि निर्यात में 25 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर्ज की गई। यह निर्यात लगभग 3 लाख करोड़ रुपए पहुंच गया है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के माध्यम से 11 करोड़ से अधिक किसान परिवारों को एक लाख अस्सी हजार करोड़ रुपए दिए गए हैं। इस निवेश से कृषि क्षेत्र में आज बड़े बदलाव दिखाई दे रहे हैं।’

देश में 11 नई मेट्रो लाइन्स पर सेवाएं शुरू की गई हैं

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, ‘मार्च 2014 में हमारे देश में राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल लंबाई 90 हजार किलोमीटर थी, जबकि आज उनकी लंबाई बढ़कर एक लाख चालीस हजार किलोमीटर से अधिक हो गई है। देश में 11 नई मेट्रो लाइन्स पर सेवाएं शुरू की गई हैं, जिनका लाभ 8 राज्यों में लाखों लोगों को हर दिन मिल रहा है। मेरी सरकार देश की सुरक्षा के लिए दृढ़ संकल्पित होकर काम कर रही है।सरकार की नीतियों की वजह से डिफेंस सेक्टर में, विशेषकर रक्षा उत्पादन में, देश की आत्म-निर्भरता लगातार बढ़ रही है। हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के साथ 83 एलसीए तेजस फाइटर एयरक्राफ्ट के निर्माण हेतु अनुबंध किए गए हैं। सरकार ने ऑर्डिनेन्स फैक्ट्रियों को 7 Defence PSUs का रूप देने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं।

मां अन्नपूर्णा देवी की मूर्ति को वापस लाकर काशी विश्वनाथ मंदिर में स्थापित किया गया

अभिभाषण पढ़ते हुए राष्ट्रपति जी ने बताया कि  सरकार द्वारा वस्त्र उद्योग के विकास के लिए करीब 4500 करोड़ रुपए के निवेश से 7 मेगा इंटीग्रेटेड टेक्सटाइल रीजन और ऐपरल पार्क बनाए जा रहे हैं। वही भारत की अमूल्य धरोहरों को देश में वापस लाया जाए। सौ वर्ष पूर्व भारत से चोरी हुई मां अन्नपूर्णा देवी की मूर्ति को वापस लाकर काशी विश्वनाथ मंदिर में स्थापित किया गया है।

 

इतना ही नही राष्ट्रपति ने अभिभाषण में ये भी बताया कि आने वाले दिनो में जिस तरह से देश में आर्थिक विकास किया जा रहा है उससे आने वाले दिनो में रोजगार भी तेजी के साथ बढ़ेगे जिसका फायदा देश के युवाओ को होगा। इतना ही नही उन्होने बोला कि देश में नारी सशक्तीकरण पर भी तेजी से काम किया जा रहा है। सैनिक स्कूलों में लड़कियों का दाखिला इसका बढ़ा उदाहरण है तो शादी की उम्र 18 से 21 किया जाता भी।

वैसे जो लोग सरकार ने किया क्या किया क्या का हल्ला दिन रात मचाते है उन्हे अभिभाषण को जरूर सुनना चाहिये था क्योकि उसके बाद वो समझ सकते है कि सरकार ने कितनी तेजी से काम किया है।