पीएम किसान सम्मान निधि योजना की नहीं मिली है राशि, तो इस हेल्पलाइन पर करें फ़ोन

cambodia_rice_farming

मौजूदा केंद्र सरकार की किसानों से जुड़ी सबसे बड़ी कल्याणकारी योजनाओ में से एक प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme) में यदि आपका रजिस्ट्रेशन हो चुका है फिर भी पैसा नहीं मिल रहा है तो परेशान होने की कोई बात नहीं है| पहले आप अपने राजस्व अधिकारी यानी लेखपाल और कृषि अधिकारी से संपर्क करें| वहां बात नहीं बन रही है तो सोमवार से शुक्रवार तक पीएम-किसान हेल्प डेस्क (PM-KISAN Help Desk) के ई-मेल Email ([email protected]) पर संपर्क कर सकते हैं| इसके बावजूद अगर वहां से भी बात न बने तो आप सीधे इस नंबर पर 011-23381092 (Direct HelpLine) पर संपर्क कर सकते है|

देश के कुछ अलग-अलग हिस्सों से ये शिकायत आ रही है कि रजिस्टर्ड किसानों को भी पैसा नहीं मिल रहा| एक ही गांव में कुछ किसानों के अकाउंट में दो बार दो-दो हजार रुपये आ गए हैं, लेकिन कुछ किसान ऐसे भी हैं जिनके अकाउंट में पहली किस्त भी नहीं पहुंची| कुछ लोगों के खाते में पहली किस्त आ गई है तो दूसरी नहीं मिली| ऐसे लोग सबसे पहले अपने लेखपाल और कृषि अधिकारी से पूछें कि उनका नाम लाभार्थियों की सूची में है या नहीं| यदि है तो उनसे पूछें कि पैसा क्यों नहीं आया| संतुष्ट जवाब न मिलने पर आप उपरोक्त स्कीम की हेल्पलाइन पर भी संपर्क कर सकते है|

इतना ही नहीं, आप इस योजना के वेलफेयर सेक्शन (Farmer’s Welfare Section) में भी संपर्क कर सकते हैं| दिल्ली में इसका फोन नंबर है 011-23382401, जबकि ई-मेल आईडी ([email protected]) है| इस योजना के तहत लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने से पहले 9 मार्च तक 4.76 करोड़ किसानों का रजिस्ट्रेशन हो चुका था| जबकि, केंद्र सरकार का दावा है कि करीब तीन करोड़ किसानों तक इसकी पहली और दूसरी किस्त का लाभ पहुंच चुका है|

उधर स्कीम के सीईओ विवेक अग्रवाल के मुताबिक, ‘किसान के खाते में योजना का पैसा केंद्र सरकार के खाते से सीधे नहीं जा रहा| केंद्र सरकार राज्यों के अकाउंट में पैसा भेजती है फिर उस अकाउंट से किसानों तक पैसा पहुंचता है| केंद्र सरकार सभी लाभार्थियों का पैसा भेज रही है|’

 farmer_croping

बहरहाल, योजना के तहत तीसरी किस्त के लिए केंद्र सरकार ने आधार बायोमिट्रिक अनिवार्य कर दिया है| जबकि पहली और दूसरी किस्त के लिए ऐसा नहीं था, उस वक़्त सिर्फ आधार नंबर मांगा गया था| तीसरी किस्त की प्रक्रिया चुनाव के बाद ही शुरू हो सकेगी|

गौरतलब है कि इस योजना के तहत सरकार ने 12 करोड़ किसानों को इसका लाभ देने की घोषणा की थी| ऐसे में जिन सवा सात करोड़ किसानों का अब तक रजिस्ट्रेशन नहीं हो पाया है उनकी यह प्रक्रिया लोकसभा चुनाव के बाद ही संपन्न हो सकेगी|

इन राज्यों के सबसे अधिक किसानों ने उठाया इस योजना का लाभ:

उत्तर प्रदेश- 10849465

आंध्र प्रदेश- 3296278

गुजरात- 2729934

महाराष्ट्र- 1427585

तमिलनाडु- 1945210

तेलंगाना- 1875941

पंजाब- 1119039

असम- 945050

जम्मू और कश्मीर- 446542

हरियाणा-938362