पोंग डोमिंग भारतीय सेना में अरुणाचल प्रदेश की पहली महिला लेफ्टिनेंट कर्नल बनीं

Pong Doming became the first woman lieutenant colonel of Arunachal Pradesh in the Indian Army

अरुणाचल प्रदेश की पोंग डोमिंग राज्य की पहली महिला अधिकारी बनीं जिन्हें सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल के पद से नवाजा गया।

अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने सोमवार को ट्वीट किया “हम सभी के लिए एक गौरवशाली क्षण … मेजर PonungDoming ने इतिहास बनाया है। वह अरुणाचल की पहली महिला आर्मी ऑफिसर हैं, जिन्हें IndianArmy में लेफ्टिनेंट कर्नल के पद से नवाज़ा गया। हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ!”।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने भी मेजर डोमिंग की प्रशंसा की और उन्हें “सशक्त और साहसी महिला” बताते हुए बधाई दी। डोभाल ने ट्वीट किया की ” मेजर पोंग डोमिंग इतिहास रचती है। वह अरुणाचल की पहली महिला आर्मी ऑफिसर हैं, जिन्हें भारतीय-सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल के पद से नवाजा गया। हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं!”।

पोंग डोमिंग पूर्वी सियांग जिले के पासीघाट की निवासी है। वो अपने चार भाई-बहनों में सबसे बड़ी बेटी हैं। सरकारी स्कूल से पढ़ीं डोमिंग बचपन से ही सैन्य अफसर बनना चाहती थीं। उन्होंने 2005 में महाराष्ट्र के वालचंद कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग से अपनी सिविल इंजीनियरिंग की और एल एंड टी कोलकाता में उन्होंने लगभग दो साल तक काम किया। इस दौरान, उन्होंने सेवा चयन बोर्ड(SSB) के लिए अपनी तैयारी जारी रखी और 2008 में उन्होंने सेना में प्रवेश किया और ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी, चेन्नई से जुड़ गईं। लेफ्टिनेंट के रूप में शामिल होने के बाद, डोमिंग ने साढ़े चार साल के भीतर मेजर रैंक प्राप्त कर लिया । अप्रैल 2014 में, वह लोकतांत्रिक गणराज्य कांगो में संयुक्त राष्ट्र के शांति मिशन में भी शामिल हुई थी।

लेफ्टिनेंट कर्नल ने कहा कि वह अपनी नई उपलब्धि पर खुश और संतुष्ट हैं जो उन्हें राष्ट्र के प्रति अधिक जिम्मेदारी देती है। उसने यह भी कहा कि आर्थिक अभावों के बावजूद ईमानदारी से प्रयास और बहुत सारी मेहनत के बाद वह आखिरकार इस स्तर पर पहुंच सकी है। उन्होंने राज्य के प्रत्येक युवा को यह निर्धारित करने का सुझाव दिया कि वे जो भी क्षेत्र चुनते हैं, उसमें ईमानदारी से काम करें।

आपको याद होगा की पिछले महीने विंग कमांडर शैलजा धामी भारतीय वायु सेना में फ्लाइंग यूनिट में फ्लाइंग कमांडर में शामिल होने वाली पहली महिला अधिकारी बनी थी । उन्होंने २६ अगस्त को गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस में चेतक हेलीकाप्टर यूनिट का चार्ज संभाला था ।