पुलिसकर्मी धर्म और जाति सोचे बग़ैर लोगों के लिए काम कर रहें हैं, वीडियो हुआ वायरल

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

राजधानी के उत्तर-पूर्वी दिल्ली में जगह-जगह धुंए के गुबार उठ रहे थे, शोर-शराबे और भीड़ की नारेबाजी के बीच गोलियों और आंसू गैस के गोलों की आवाज गूंज रही थी। उपद्रवी मारो-मारो, भागो-भागो चिल्ला रहे थे। जगह-जगह उपद्रवी धार्मिक पहचान करने के बाद एक-दूसरे पर हमला कर रहे थे। यहां तक एक-दूसरे के धार्मिक स्थलों को भी भीड़ ने निशाना बनाना शुरू कर दिया था।

दिल्ली में हिंसा का ऐसा नजारा शायद पहले कभी नहीं दिखा हो। इस हिंसा में अब तक दिल्ली पुलिस के एक हेड कांस्टेबल समेत 20 लोगों की मौत हो चुकी है। दिल्ली में दंगों के कुछ वीडियोज सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहे हैं। उनमे से एक विडियो में दिखाया गया है की पुलिसकर्मी कैसे अपनी जान पे खेल कर एक नन्हे बच्चे को उसकी माँ के पास पंहुचा रहा है। पुलिसकर्मियो पर सवाल उठाने वालों को ये विडियो जरूर देखना चाहिए, खासकर शाहरुख जैसे लोगों को ये वीडियो जरूर देखना चाहिए। जिस पुलिस वाले पर तुम बंदूक तान देते हो, गोली चला देते हो, तेजाब फेंक देते हो, वही पुलिस वाला एक अनजान बच्चा अपनी गोद में लेकर ढूंढ़ता हुआ, रिस्क लेकर उसकी मां को सौंप रहा है।

ऐसे वीडियो वायरल होने से माहौल थोड़ा शांत होगा ऐसा माना जा सकता है। दिल्ली पुलिस के ऐसे पुलिसकर्मियो को IndiaFirst का सलाम।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •