वेल्लोर में शादी के निमंत्रण पर पीएम मोदी ने नहीं शामिल होने पर दी प्रतिक्रिया निश्चित रूप से आपका दिल जीत लेगी

PM's response will definitely win your heart | PC - Google

बेटी के पैदा होते ही हर पिता उसकी शादी के सपने संजोने लगता है। और शादी से जुडी बहुत तरह के तैयारियों का ख्याल उसके मन में रहता है। लेकिन वेल्लोर के राजशेखरन परिवार के सपनों में एक खासियत उसको दुसरे आम शादियों से अलग बनाती है। वेल्लोर के राजशेखरन परिवार का एक ही सपना था कि मेहमानों की सूची में एक विशिष्ट नाम लिखा जाए। उनकी एक बहुत अलग तरह की सूची है, जो हममें से किसी ने भी नहीं सोची होगी। टीएस राजशेखरन, एक सेवानिवृत्त क्षेत्रीय चिकित्सा शोधकर्ता और पर्यवेक्षक, जिन्होंने हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी बेटी की आगामी शादी में आमंत्रित किया। इतना ही नहीं, राजशेखरन परिवार तब हैरान रह गया जब उन्हें खुद पीएम मोदी की ओर से बधाई का पत्र मिला।

PM MODI LETTER

पत्र में लिखा था, “डॉ सुदर्शन के साथ आपकी बेटी डॉ राजश्री की शादी के बारे में जानकर मुझे खुशी हुई। इस महत्वपूर्ण अवसर पर मुझे आमंत्रित करने के लिए धन्यवाद। ” पत्र में पीएम मोदी ने बताया है कि वह अपने बिजी शेड्यूल की वजह से शादी में शामिल नहीं हो पायेंगे।

बता दे की उनकी बेटी की शादी 11 सितंबर को होने वाली है। इसके अलावा पीएम मोदी पत्र में नवविवाहित जोड़े को सुखी और समृद्ध भविष्य के लिए शुभकामनाएं भी दी गई हैं। पत्र का अंत एक बार फिर उनके मंगल और सुखद भविष्य की कामना के साथ होती है, “इन सभी आशीर्वादों के साथ, मैं एक बार फिर इस विशेष अवसर पर युगल को उनके विवाहित जीवन और परिवार, दोस्तों और प्रियजनों के लिए बधाई देता हूं।”

PM's reply to a wedding invitation wins hearts

प्रधानमंत्री के बधाई संदेश ने दंपति के परिवारों को अलंकृत कर दिया। उत्साहित और खुशहाल परिवार ने एक साक्षात्कार में कहा कि पीएम का शुभकामना सन्देश आना उनके लिए बहुत बड़ा आश्चर्य है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वैवाहिक जीवन में बंधने वाले इस जोड़े को शुभकामनाएं पत्र पाकर वेल्लोर में इस परिवार की खुशी का ठिकाना नहीं रहा । पीएम मोदी की तरफ से आए जवाब ने पूरे परिवार का दिल जीत लिया।

राजशेखरन परिवार अब उस पत्र को फ्रेम करवाने पर विचार कर रही है। परिवार का कहना है कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि पीएम मोदी की तरफ से जवाब आएगा, लेकिन पीएम मोदी ने अपने व्यस्त समय में से भी पत्र लिखने का वक्त निकालकर हमारा दिल जीत लिया।