जोधपुर के एक शख्स की कोशिशों को पीएम ने पत्र लिखकर सराहा

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जनता के बीच काफी लोकप्रिय हैं | उनकी एक आवाज़ पर पूरी 120 करोड़ जनता उठ खड़ी होती है | उनकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उनके एक बार कहने पर राजस्थान के एक शख्स ने अपनी जीवन भर की कमाई को कोरोना के खिलाफ लड़ाई मे दूसरों को खाना खिलने मे लगा दिया | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद भी इस महामारी को देश से खत्म करने के लिए जरूरी कदम उठा रहे हैं। साथ ही उनकी नजर उन लोगों पर भी है जो इस मुश्किल दौर में जनसेवा के जरिए जरूरतमंदों को राहत पहुंचाने कवायद में जुटे हुए हैं।

प्रधानमंत्री ने की थी लोगों से दान देने की अपील 

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने जनता से यह अपील किया था कि जो भी लोग सक्षम हैं वो देश के लिये इस संकट की स्थिति मे अपनी क्षमता के अनुरूप दान दें | बस फिर क्या था, अपने प्रधानमंत्री से इतना प्यार करने वाली जनता लग गयी अपनी क्षमताओं के अनुसार देश को दान देने मे | प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि छोटी से छोटी राशि भी देश हित मे बड़ा काम कर सकती है |

जोधपुर के रामनिवास मंडा के जज्बे को सलाम

राजस्थान के जोधपुर मे रहने वाले रामनिवास को जब ये बात पता चली तो उन्होंने गरीबों व जरूरतमंदों के लिये अपनी जीवनभर की कमाई खर्च कर डाली | उनके अनुसार, इस माहामारी से निपटना सबसे जरूरी है, पैसे तो वे फिर से कमा लेंगे |

ज़रूरतमंदों में बांटी रसद सामग्री

जोधपुर के उम्मेदनगर में रहने वाले रामनिवास मंडा ने करीब 6000 सूखी रसद सामग्री के पैकेट तैयार कर तिवरी और ओसिया तहसील के गांव-गांव, ढाणी-ढाणी तक जरूरतमंदों में बांटे। इस बात को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामनिवास मंडा को पत्र लिखकर उनके सेवा के जज्बे की जमकर सराहना की है।

प्रधानमंत्री ने पत्र लिखकर की सराहना 

पीएम मोदी ने अपने पत्र में लिखा कि मेरा यह पत्र पाकर जितना आपको आश्चर्य हो रहा है उतनी ही खुशी मुझे ये पत्र लिखने में हुई है। मैंने ये पत्र आपको और आपके परिवार को धन्यवाद देने और अभिनंदन करने के लिए लिखा है। वर्तमान परिस्थिति में देश जिस महामारी (Covid-19) से गुजर रहा उसमें आपका योगदान सराहनीय है। मुझे ये जानकर बहुत खुशी हुई कि आपके द्वार 6000 राशन सामग्री के पैकेट आपके क्षेत्र में वितरण किया जा रहा है। ईश्वर आपकी मनोकामना पूर्ण करें। उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं |

6 हजार परिवारों में बांटा रसद

इन दिनों कोरोना जैसी बीमारी से लड़ने के लिए कई सारे लोग योद्धा बन कर सामने आ रहे हैं। ओसियां विधानसभा में 6 हजार परिवारों को रसद बांटने पर लगभग 50 लाख रुपए खर्च आया है, जो मंडा के जीवन भर की जमा पूंजी है। खाद्य सामग्री का एक पैकेट 750 रुपये में तैयार होता है। उसमें आटा, दाल, तेल, नमक, हल्दी, मिर्ची, धनिया, साबुन, बिस्किट, माचिस जैसी दैनिक उपयोग की वस्तुएं दी गईं। रामनिवास मंडा के इस प्रयास की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पत्र लिखकर खुले दिल से प्रशंसा की है।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •