देवघर के देवदूतों से पीएम बोले ‘हमें ही नहीं समूचे देश को आप पर गर्व है’

झारखंड के देवघर में देवदूत बनकर 60 लोगों की जिंदगी बचाने वाले वायुसेना के जांबाजों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बातचीत की। इस दौरान मोदी ने कहा, आपके धैर्य ने ही इस मुश्किल अभियान में सफलता दिलाई। हम धन्य हैं कि देशवासियों को हर संकट से निकालने वाली सेना हमारे पास है। देश को अपने सुरक्षा बलों पर गर्व है। मोदी ने कहा, वायुसेना, सेना, आईटीबीपी, एनडीआरएफ और पुलिस के हमारे योद्धाओं ने तीन दिनों तक 24 घंटे कड़ी मशक्कत और सूझबूझ के साथ इस मुश्किल बचाव अभियान को सफल बनाया। आज पूरा देश आपको सलाम कर रहा है। मोदी ने कहा, देवघर का बचाव अभियान हमारे लिए सबक है। हमें इससे सीखना होगा कि आगे कैसे इस तरह की स्थिति से बचा जाए। इसके लिए आपके अनुभव हमारे लिए पहला पाठ होंगे।

तीन लोगों की मौत पर दुख भी जताया

पीएम मोदी ने बचाव अभियान के दौरान तीन लोगों की मौत पर दुख भी जताया। उन्होंने कहा, हम उन्हें नहीं बचा पाए इसका बेहद दुख है। मैं मृतकों के परिवारों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। ईश्वर से कामना करता हूं कि जो लोग घायल हैं वे जल्द स्वस्थ हो जाएं।

बाबा वैद्यनाथ जी की कृपा

मोदी ने कहा, यह हमारे युवाओं का साहस और बाबा वैद्यनाथ जी की कृपा थी जो इस अभियान को पूरा कर 60 जिंदगियां बचाई जा सकीं। मोदी ने कहा, यह संवेदनशीलता, विवेक, बहादुरी का उत्कृष्ट उदाहरण था। सबका प्रयास ने इसे सफल बनाया।

Image

मुश्किल घड़ी में धैर्य सबसे बड़ा हथियार

मोदी ने कहा, जब हम मुश्किल घड़ी में फंसते हैं तब सभी चुनौतियों से निपटने के लिए धैर्य सबसे बड़ा हथियार है। हम जितना धैर्य दिखाएंगे, सफलता उतनी ही निश्चित होगी। आप सभी ने बचाव अभियान के दौरान जो धैर्य दिखाया वह सराहनीय है।

दरअसल, देवघर में त्रिकुट पहाड़ियों पर रविवार को रोप-वे की ट्रॉलियां टकराने के कारण हादसा हो गया था। इसके बाद 60 से अधिक पर्यटक 46 घंटे से अधिक समय तक केबल कारों में फंसे रहे थे। पर्यटकों को बचाने के लिए भारतीय वायुसेना, सेना, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस, एनडीआरएफ और जिला प्रशासन के संयुक्त दलों ने अभियान चलाया था। हादसे में तीन लोगों की मौत भी हो गई थी।