PM मोदी की खुली चुनौती- हिम्मत है तो कांग्रेस घोषणा करें कि PAK के हर नागरिक को देंगे भारत की नागरिकता

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

From Barhait in Jharkhand

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को झारखंड के बरहेट में चुनावी सभा में कहा कि कांग्रेस देश के मुस्लिमों में भय का माहौल बना रही है। उन्होंने चुनौती दी कि नागरिकता बिल और एनआरसी पर विपक्षी पार्टियां झूठ बोल रही हैं और लोगों को भ्रमित कर रही है। प्रधानमंत्री ने चुनौती दी कि अगर हिम्मत है तो कांग्रेस खुलेआम यह ऐलान करे कि वह पाकिस्तान के हर नागरिक को भारत की नागरिकता देगी। वह घोषणा करे और भारत की जनता उनका हिसाब कर देगी।

उन्होंने कहा कि “मैं पूछना चाहता हूं कि आखिर इसमें भारतीय मुसलमानों या किसी भी भारतीय नागरिक के अधिकारों का हनन कहां होता है। कांग्रेस और उसके साथी इस मुद्दे पर मुसलमानों को भड़काने का, डराने का, भयभीत करने का प्रयास कर अपनी राजनीतिक खिचड़ी पकाना चाहते हैं। नागरिकता संशोधन कानून न तो किसी भारतीय का अधिकार छीनता है और न ही उसे किसी तरह का नुकसान पहुंचाता है।”

जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, “सारे काम शांति से होते हैं तो विपक्षियों को ये बात हजम नहीं हो रहा हैं। यही डर आर्टिकल 370 को लेकर भी दिखाया गया था। तब भी कह रहे थे कि हाथ लगाया तो करंट लग जाएगा, बवाल हो जाएगा, देश के टुकड़े हो जाएंगे। जम्मू-कश्मीर में अलगववाद, आतंकवाद बढ़ता गया। लेकिन ये लोग सिर्फ देखते रहे, निर्णय नहीं किया। अनुच्छेद 370 भी हट गया है और कश्मीर शांति से आगे बढ़ रहा है। देश ने कांग्रेस और उसके साथियों की नकारात्मक सोच को नकार दिया। लेकिन, इन लोगों ने लोगों को डराने और झूठी बातें फैलाने को अपनी राजनीति का आधार बना लिया है।”

पीएम मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा, “ये लोग नागरिकता संशोधन कानून को लेकर झूठ बोलने लगे है। लोगों को डराने में लगे हैं। कांग्रेस और उसके साथियों ने भारत के मुसलमानों को डराने में पूरी ताकत झोंक दी है । ये लोग देश में झूठ और भ्रम का माहौल बना रहे हैं। लेकिन ये बात पत्थर की लकीर की तरह साफ है कि इस कानून से भारत के किसी भी नागरिक, भले ही वह हिंदू हो, मुसलमान हो, ईसाई हो या पारसी… किसी की नागरिकता पर असर नहीं पड़ेगा। और धीरे धीरे ये सच्चाई सभी लोगो के समझ में आ जाएगी।”

tributes to the valorous Sidho, Kanho

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वे सिद्धो-कान्हो की इस वीर धरती से पूरे जनजातीय समाज को आश्वस्त करते हैं कि आपके जल, जंगल और जमीन पर कोई आंच नहीं आएगी। आपके साथ और आपके विश्वास से ही यहां का विकास होगा। जनसभा में मोदी ने कहा कि आपका वोट एक विधायक और मुख्यमंत्री बनाने के लिए नहीं है बल्कि विकास करके दिखाने वाली सरकार बनाने के लिए है।

गौरतलब है कि झारखंड के पाकुड़ में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए BJP अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि दुनियाभर में हिंदुओं की इच्छा के अनुरूप अयोध्या में चार महीने के अंदर अयोध्या में राम मंदिर बनने जा रहा है।

अमित शाह ने कहा कि 100 वर्षों से दुनिया भर के भारतीयों की मांग थी कि अयोध्या में राम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर बनना चाहिए और अभी कुछ दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में राम मंदिर के लिए रास्ता साफ़ करते हुए अपना फैसला दिया। राम मंदिर की दशकों पुरानी मांग का जिक्र करते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि हर कोई राम मंदिर निर्माण चाहता था, लेकिन कांग्रेस और उसके वकील कोर्ट में अयोध्या में राम जन्मभूमि मामले को खींचने की कोशिश की और इसमें रोड़ा अटकाते रहते थे।

बता दें कि इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद प्रकरण में नौ नवंबर के फैसले पर पुनर्विचार के लिए दायर सभी याचिकायें खारिज कर दीं। इस फैसले के बाद अयोध्या में 2.77 एकड़ विवादित भूमि पर राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हो गया था। प्रधान न्यायाधीश एसए बोबड़े की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने चैंबर में इन पुनर्विचार याचिकाओं पर संक्षिप्त विचार के बाद उन्हें खारिज कर दिया।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •