इटली में पीएम मोदी का मैराथन दौर जारी, ईसाइयों के धर्म गुरू पोप फ्रांसिस के साथ 1 घंटे चली मुलाकात

G-20 सम्मेलन में शामिल होने गये पीएम का मैराथन दौरा जारी है। इस दौरान पीएम मोदी ने सबसे पहले इटली के पीएम से मुलाकात की तो उसके बाद उन्होने वैटिकन सिटी जाकर पोप फ्रांसिस से मुलाकात की। इस दौरान दोनो के बीच जलवायु परिवर्तन और गरीबी को हटाने को लेकर हुई चर्चा।

पोप फ्रांसिस के साथ पीएम मोदी की चली 1 घंटे मुलाकात  

G -20 सम्मेलन में भाग लेने रोम गये पीएम मोदी ने सम्मेलन के पहले वैटिकन सिटी पहुंचकर पोप फ्रांसिस से मुलाकात की। सबसे बड़ी बात ये थी कि ये मुलाकात महज 20 मिनट के लिये रखी गई थी लेकिन पीएम मोदी और पोप के बीच ये बैठक एक घंटे के करीब चली जिससे आप खुद पीएम मोदी का कद समझ सकते है। पीएम मोदी और कैथोलिक चर्च के प्रमुख पोप फ्रांसिस के बीच आमने-सामने यह पहली बैठक थी। मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं, जिनसे फ्रांसिस ने 2013 में पोप बनने के बाद मुलाकात की है। पीएम मोदी ने पोप फ्रांसिस को भारत आने का न्योता भी दिया है।

वैटिकन ने वार्ता के लिए कोई एजेंडा नहीं किया था तय

वैटिकन ने वार्ता के लिए कोई एजेंडा नहीं किया गया था। सरकार की माने तो पंरपरा है कि जब परम पोप से चर्चा होती है तो कोई एजेंडा नहीं होता है। इस दौरान आम तौर पर वैश्विक परिदृश्य और उन मुद्दों को लेकर चर्चा हुई। इसके साथ साथ पीएम मोदी ने पोप को भारत में आने का न्योता दिया और भारत की संस्कृति को लेकर चर्चा की। अगर तस्वीरों को देखे तो खुद तस्वीरे बोल रही है कि दोनो शख्सियत एक दूसरे से मिलते वक्त कितना जोश में थे। गौरतलब है कि इसके पहले 1999 में पोप की यात्रा भारत में हुई थी और उस वक्त देश के पीएम अटल बिहारी वाजपेयी थे जिन्होने पोप जॉन पॉल द्वितीय का भारत आने में भव्य स्वागत किया था।

इटली के पीएम के साथ भी की मुलाकात

भारत और इटली के बीच हरित हाइड्रोजन के विकास, नवीकरणीय ऊर्जा गलियारे की स्थापना तथा प्राकृतिक गैस क्षेत्र में संयुक्त परियोजनाओं पर मिलकर काम करने की सहमति बनी है। दोनों देश ऊर्जा क्षेत्र में आ रहे बदलावों को लेकर अपनी भागीदारी को मजबूत करने पर सहमत हुए हैं। ये सहमती पीएम मोदी और इटली के पीएम के बीच हुई बैठक के बाद बनी। इस सहमति के बाद आने वाले दिनो में ऊर्जा के सेक्टर में भारत को काफी फायदा होगा तो इटली को सौर ऊर्जा के बारे में बेहतर जानकारी मिलेगी।

पीएम का इटली दौरा जारी है और वो इस दौरे के दौरान अभी दुनिया के कई बड़े नेताओं से मुलाकात करेगे और ये बताने की कोशिश करेंगे कि भारत कैसे जलवायु परिवर्तन को लेकर काम कर रहा है।