पीएम मोदी के तोहफे ने कमला हैरिस की भारत से जुड़ी यादे ताजा कर दी

पीएम मोदी तीन दिवसीय अमेरिकी दौरे पर हैं और ये सब जानते है कि पीएम मोदी जब भी किसी देश का दौरा करते है तो वो उस देश के नेताओं के लिये कुछ ना कुछ तोहफा भी लेकर जाते है। इसी क्रम में अपने इस अमेरिकी दौरे के दौरान पीएम मोदी ने अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस को कुछ ऐसा तोहफा दिया जिसे वो अपने जीवन में नहीं भुला सकती है।

May be an image of 2 people, people standing and monument

नाना से जुड़ी यादें और शतरंज का दिया तोहफा

एक तरफ पीएम मोदी ने अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस को भारत आने का न्योता दिया तो दूसरी तरफ पीएम मोदी ने अपनी इस मुलाकात को खास तोहफों के जरिए यादगार बना दिया। भारतीय मूल की कमला हैरिस को पीएम मोदी ने वो तोहफे दिए जिसने कमला हैरिस को उनकी भारतीय मूल की याद दिला दी। उन्होंने कमला हैरिस को उनके दादा पीवी गोपालन से जुड़े हुए कुछ नोटिफिकेशन भेंट किए। पीवी गोपालन सीनियर अफसर रहे थे और उन्होंने देश में कई अलग-अलग जिम्मेदारियां निभाई थीं। पीएम मोदी ने इन नोटिफिकेशन को हस्तशिल्प के रूप में कमला हैरिस को भेंट किया। इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने कमला हैरिस को एक शतरंज का सेट भी गिफ्ट किया। गुलाबी मीनाकारी का ये शतरंज भारतीयता से जुड़ा हुआ है, ये मीनाकारी देश के शहर काशी से जुड़ी हुई है।

ऑस्ट्रेलिया और जापान के पीएम को भी दिया गिफ्ट

इसके साथ साथ पीएम मोदी ने ऑस्ट्रेलिया के पीएम और जापान के पीएम से भी मुलाकात की इस दौरान ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन को गुलाबी मीनाकारी के जरिए बनाया गया एक जहाज का शिल्प तोहफे में दिया है। वहीं जापान के प्रधानमंत्री को पीएम मोदी ने हस्त शिल्प के जरिए चंदन से मनी बुद्ध की एक मूर्ति गिफ्ट की है। मुलाकात के बाद पीएम मोदी ने खुद ट्वीट करके सभी मुलाकात को शानदार बताया और बोला भारत जापान हो या ऑस्ट्रेलिया दोनो देशों के साथ मिलकर आगे भी काम करता रहेगा। गौरतलब है कि इससे पहले पीएम मोदी ने अमेरिका के पांच बड़े कारोबारियों के साथ भी बैठक की और उनको भारत में निवेश बढ़ाने के लिये ये सबसे अच्छा मौका बताया। इस दौरान कई कंपनियों ने भारत में निवेश को और बढ़ाने की बात भी कही।

पीएम मोदी ने एक के बाद एक बैठक तो की ही साथ ही लोगों का दिल जीतने की कोशिश भी की जिससे एक बेहतर संबध बन सके। खासकर कमला हैरिस और पीएम मोदी की आपस  हो रही बातचीत की तस्वीर इस बात को साफ बया कर रही है कि दोनो साफकोशी के साथ मिले और एक साथ काम करने को भी तैयार दिखे। हां ये जरूर है कि पीएम मोदी ने उन्हे इस दौरान उस बचपन को भी याद दिला दिया जिसे वो कभी भूली नहीं होगी।