पीएम मोदी के करीबियों ने बताया, पीएम मोदी के काम करने का फार्मूला

आये दिन ये आरोप लगता रहता है कि पीएम मोदी एक तानाशाह की तरह ही काम करते हैं। वो अपने आगे किसी की नहीं सुनते, ना ही किसी को अपने आगे बोलने देते है। लेकिन हकीकत क्या है ये सही मायने में बताया रेलमंत्री अश्वनी वैष्णव ने या पिर बीजेपी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने।

मोदी जी सबकी बात सुनकर सामूहिक रूप से फैसला लेते हैं

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा की माने तो पीएम मोदी हर बात को बारीकी से समझते है और उसके बाद किसी नतीजे तक आते है। इससे पहले हम सभी किसी विषय पर चर्चा करने के बाद फाइनल प्लान पीएम मोदी के पास ले जाते हैं जिसपर सामूहिक रूप से जो फैसला होता है उसी पर उनकी हामी होती है। हां ये जरूर है कि वो सारी बात को अच्छी तरह से समझकर अपनी राय भी रखते हैं जिसके बाद आखिरी मोहर लगती है। इतना ही नहीं उन्होने बोला हमारी पार्टी में नीचे से नीचे पर पर काम करने वाले की भी बात पर विशेष तौर पर ध्यान दिया जाता है। पार्टी का कोई भी सदस्य पार्टी के बेहतर कल के लिये और जनसेवा के लिये पीएम मोदी को कई माध्यम से संपर्क करके अपनी बात रख सकता है जिसे पीएम मोदी तवज्जो भी देते है।

पीएम की कार्यशैली के बारे में बताते रेलमंत्री

पीएम मोदी के करीबी रेलमंत्री अश्वनी वैष्णव ने बताया कि कैसे पीएम मोदी काम करते हैं। उन्होंने बताया कि पीएम मोदी हर मुद्दे पर हर किसी की बात को बहुत ध्यान से सुनते है। उनकी माने तो पीएम मोदी जितने अच्छे वक्ता हैं उससे कही ज्यादा अच्छे श्रोता भी हैं। वो हर व्यक्ति को अच्छी तरह से सुनते हैं और उसपर काम करते हैं। इसके साथ साथ हर फाइल को पूरी ईमानदारी से चेक करते हैं और आधे अधूरे काम को बिल्कुल नही पंसद करते हैं उसे तुरंत वापस भेजकर पूरा करके लाने को बोलते हैं। शायद यही वजह है कि पीएम हर योजना पर नजर ही नही रखते बल्कि हर योजना की बारीक से बारीक चीज भी जानते हैं।

वैसे विरोधी कुछ भी बोले लेकिन हकीकत यही है कि पीएम मोदी हर मुद्दे पर विशेष ध्यान देते है फिर अधिकारी हो या फिर नेता या पार्टी का कार्यकता सभी के विचार को ध्यान से सुनना और फिर उससे जो अमृत निकलता है उसे देश के विकास में लगाने का ही नतीजा है कि आज देश तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है।