NCC के कार्यक्रम में पीएम मोदी की पाकिस्तान को बड़ी चेतावनी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Prime Minister modi attends the National Cadet Corps Rally in Delhi

नेशनल कैडेट कोर (एनसीसी) के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आतंक को पनाह देने वाले पड़ोसी देश पाकिस्तान पर बिना उसका नाम लिए निशाना साधा। पीएम मोदी ने कहा कि पड़ोसी देश को हराने में हमें दस दिन भी नहीं लगेंगे। पीएम ने कहा कि अब टाला नहीं जाएगा, टकराया जाएगा, और दुश्मन को निपटाया जाएगा।

राजधानी दिल्ली में एनसीसी कैटेड्स को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि एनसीसी युवाओं को प्रेरित करने और उनकी देशभक्ति की भावना को जगाने का बहुत अच्छा मंच है क्योंकि ये भावनाएं सीधे देश के विकास से जुड़ी हैं। इसके आगे उन्होंने ये भी कहा कि विश्व में भारत की पहचान युवा के रूप में है। यहां के 65 प्रतिशत लोग 35 साल की उम्र से कम के हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि जिस देश के युवा में अनुशासन हो, दृढ इच्छाशक्ति और निष्ठा हो उस देश के तेज विकास को कोई नहीं रोक सकता है।

The National Cadet Corps (NCC)

पाकिस्तान को हराने में 10 दिन नहीं लगेंगे

आपको बता दें कि कार्यक्रम में पीएम मोदी ने पाकिस्तान का नाम तो नहीं लिया लेकिन उन्होंने निशाना जरूर साधा और कहा कि पड़ोसी देश को हराने में हमें 10 दिन भी नहीं लगेंगे। तीन बार पहले ही पड़ोसी युद्ध में भारत से मात खा चुका है। वह प्रॉक्सी वॉर लड़ रहा है। इसके आगे उन्होंने कहा कि क्या हम अपने युवाओं को ऐसा देश सौंप सकते हैं जहां आतंकवाद की समस्या थी..?

सीएए को लेकर कुछ पार्टियों को वोट बैंक की चिंता

CAA का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने विपक्ष पर भी जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कुछ पार्टियों को अब अपने वोट बैंक का डर सताने लगा है। इसलिए कुछ लोग ऐसे हैं जो दलितों की आवाज बनने की कोशिश में लग गए हैं। लेकिन ये ऐसे लोग हैं जिन्हें अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार का कोई एहसास नहीं होता, और न ही दिखाई देता है।

नेहरू-लियाकत समझौते और गांधी जी की एक इच्छा

पीएम मोदी ने इस दौरान अपने भाषण में ये भी कहा कि स्वतंत्रता के बाद से स्वतंत्र भारत ने पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान के हिंदुओं, सिखों और अन्य अल्पसंख्यकों से ये वादा किया था कि यदि वो चाहें तो भारत आ सकते हैं। यही इच्छा गांधी जी की थी और यही 1950 में नेहरू-लियाकत समझौते की भी थी। इसी दशकों पुरानी समस्या को अब मौजूदा सरकार सुलझा रही है। हमारे सरकार के फैसले पर जो लोग सांप्रदायिकता का रंग चढ़ा रहे हैं, उनका असली चेहरा भी देश देख चुका है और देख रहा है।

370 पर यह बोले पीएम मोदी

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर पीएम मोदी कहा, ‘आर्टिकल 370 तो अस्थायी था, फिर पिछली सरकार ने उसे हटाने की हिम्मत क्यों नहीं दिखाई? हमें कश्मीर की फिक्र थी इसलिए हमने आर्टिकल 370 को हटा दिया। कश्मीर को आतंकवाद ने तबाह कर दिया। कश्मीरी पंडितों को बेघर कर दिया गया। क्या हम कश्मीर को ऐसे ही छोड़ देते क्या?’

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •