हर चुनाव के साथ बढ़ रहा देश में पीएम मोदी का औरा

बिहार सहित 11 राज्यों की 64  विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव के नतीजे भी आ गये है। नतीजो से ये फिर से साफ हो गया है कि देश की जनता को अभी भी मोदी जी पर पूरा पूरा विश्वास है। यही वजह है कि हर तरफ मोदी विरोधी पूरी तरह से हारे है। मतलब साफ है, जो लोग ये कह रहे हैं कि देश से मोदी का जादू गायब होने लगा है उनके लिए ये नतीजे किसी माकूल जवाब से कम नहीं हैं।

आखिर कैसे चला ब्रांड मोदी का जादू?

बिहार के जनादेश को अगर एक वाक्य में कहा जाए तो लोकसभा के बाद विधानसभा चुनाव में भी बिहार के वोटर्स प्रधानमंत्री मोदी के नाम पर वोट दिया। महागठबंधन पूरी ताकत लगा कर भी ब्रांड मोदी का मुकाबला नहीं कर सका। अकेले पीएम मोदी का राजनीतिक व्यक्तित्व संपूर्ण विपक्ष पर भारी पड़ा। आइए हम आपको बताते हैं कि आखिर कैसे चला ब्रांड मोदी का जादू।

खुद मोदी ने संभाली कमान

हर बार की तरह इस बार भी पीएम मोदी ने चुनाव की कमान अपने हाथो में ले रखी थी खुद पीएम मोदी ने बिहार चुनाव में जहां 12 जगह पर रैलियां की तो जहां उपचुनाव होने थे उन राज्यो में रहने वालो से सीधा संवाद रखा। सबसे बड़ी बात ये है कि बिहार में पीएम की 12 रैलियो में 10 जगह बीजेपी को जीत का स्वाद चखने को मिला। जो ये बताता है कि मोदी जी का जादू अभी भी कम नही हुआ है।

विकास पर जोर

पीएम मोदी ने देश में विकास की राजनीति परंपरा शुरू की। बिहार चुनाव में भी पीएम मोदी ने एनडीए सरकार के काम के नाम पर वोट मांगे। चुनाव से पहले पीएम मोदी ने बिहार के लिए कई विकास परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया और बिहार को विकास की नई बुलंदियों तक ले जाने का भरोसा दिलाया।पीएम मोदी ने सिर्फ बिहार के विकास का वादा नहीं किया, बल्कि उसे पूरा करके दिखाया। चुनाव से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने हजारों करोड़ रुपए की विकास योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया।सितंबर में ही  पीएम ने 14,260 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास किया जिसमें 45945 गांव ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क के साथ साथ 541 करोड़ जल आपूर्ति, सीवर से जुड़ी योजनाओं का उद्घाटन भी शामिल था साथ ही 900 करोड़ 3 पेट्रोलियम योजनाओं का उद्घाटन और 294 करोड़ रुपए की योजनाओं का उद्घाटन, शिलान्यास की शुरूआत भी की थी।

मोदी जी को मिला महिलाओं का साथ

एक तरफ कोरोना महामारी दूसरी तरफ लोगों का काम छूट जाना मानो घर की महिलाओं के सामने तो मुसीबत का पहाड़ ही टूट पड़ा हो। लेकिन मोदी सरकार ने महिलाओं को इस बुरे दौर में जिस तरह से मदद पहुंचाई उसका असर ये हुआ कि चुनाव में महिलाओं का वोट दिल खोलकर मोदी जी को मिला। इसके अलावा सीधे महिलाओं के खाते में सरकार ने पैसा पहुंचाया तो फ्री में मिले गैस चूल्हे ने भी महिलाओं का वोट मोदी जी की तरफ मोड़ा खास बात ये रखा की न केवल गरीब महिला बल्कि मुस्लिम महिलाओ का भी मोदी जी को खूब साथ मिला जिसका असर आपके सामने है।

 

कुल मिलकाकर जो लोग ये कहते हुए दिखते थे कि पीएम मोदी को कुछ खास वर्ग के लोगों का ही वोट मिलता है इस चुनाव ने वो मित तोड़ दिया है और ये साफ कर दिया है कि सबका साथ सबका विश्वास का जिस नारे पर मोदी जी सिर्फ आगे नही बढ़ रहे बल्कि उसे पूरा भी कर रहे है। अभी मोदी मैजिक आज भी देश में लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है।