लालकिले से पीएम मोदी आत्मनिर्भर भारत की दिखाएंगे तस्वीर

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना महामारी के बीच देश 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है। कोरोना का डर, आर्थिक संकट और बेरोजगारी के बीच सबकी नजर इस बात पर होगी कि लाल किले के प्राचीर से तिरंगा लहराने के बाद पीएम मोदी देश को संबोधित करेंगे तो वो क्या संदेश देंगे और देशवासियों को क्या राहत देंगे। यही नहीं गलवान घाटी में चीन के साथ संघर्ष और 19 जवानों के शहीद होने के बाद पीएम मोदी लालकिले से चीन को क्या संदेश देते हैं, इसपर भी सबकी नजर होगी। लेकिन  जानकारो की माने तो पीएम के भाषण में आत्मनिर्भर भारत कैसे बनाया जाये इसका सबसे ज्यादा जिक्र हो सकता है। क्या क्या खास बिंदु हो सकते हैं पीएम मोदी के भाषण में चलिए डालते हैं उसपर एक नजर

पीएम मोदी अपने भाषण में कर सकते हैं इसका जिक्र

कयास लगाया जा रहा है कि इस बार पीएम मोदी लालकिले से देश वासियों को Health ID Card की सौगात दे सकते हैं। माना जा रहा है कि सरकार ‘One Nation One Ration Card’ की तर्ज पर ‘One Nation one Health Card’ लाने की तैयारी कर रहे हैं। स्वास्थ्य सेवा के लिहाज से बड़ा कदम होगा। इस कार्ड के माध्य्म से लोग देश के किसी भी हिस्से में इलाज करवा पाएंगे। इसके साथ साथ राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन का ऐलान  भी हो सकता है जिसके तहत  देश के हर नागरिक के हेल्थ का डेटा एक प्लेटफॉर्म पर होगा। पीएम के भाषण में कोरोना से जूझ रहे देशवासियो के लिए अगले आर्थिक राहत पैकेज की झलक संभव है। रोजगार और निवेश बढ़ाने के उपायों का जिक्र मुमकिन है। डिफेंस सेक्टर में आत्मनिर्भर बनने पर बड़ा ऐलान कर सकते हैं पीएम मोदी, रेलवे रिफॉर्म पर आगे का रोडमैप भी पेश किया जा सकता है। नेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन की फंडिंग के लिए खास कदम का ऐलान संभव है। कोरोना महामारी को लेकर सरकार के कदम और आगे को कार्ययोजना का खुलासा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संबोधन में कर सकते हैं। देश के सभी लोगो को कोरोना वैक्सीन का इंतज़ार है, संभावना है की पीएम अपने उद्बोधन में देश मे बनाये जाने वाले कोरोना वैक्सीन के आज तक की स्थति से देश को अवगत करा सकते हैं।

चीन को भी दे सकते हैं जवाब

पीएम मोदी देश पर गलत नियत डालने वालो पर भी करारा जवाब देकर ये साफ बता देना चाहेंगे कि वो देश के दुश्मनो को छोड़ने वाले नही फिर वो देश के भीतर के हो या फिर बाहर के हो। इतना ही नही पीएम पाकिस्तान द्वारा कश्मीर को मुद्दा बनाने पर भी जवाब दे सकते हैं। वही धारा 370 खत्म होने के एक साल बाद कश्मीर में जिस तरह की शांति का महौल तैयार हुआ है उसपर भी पीएम अपना रुख रख सकते हैं। पीएम मोदी को अन्य देशो का साथ खूब मिल रहा है और सभी देश भारत के साथ खड़े दिख रहे हैं। ऐसे में विदेश नीति पर भी पीएम मोदी अपनी बात रख कर बता सकते हैं कि वो सबका साथ और सबका विश्वास के फार्मूले के आधार पर काम कर रहे हैं।

कुल मिलाकर पीएम मोदी देश में हुए बीते 6 साल के कामकाज के साथ साथ नये भारत में क्या नया होने वाला है इसकी तस्वीर की एक झलक लालकिले से दिखाने की कोशिश जरूर करेंगे । जिसका इंतजार हम सबको भी है।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •