PM मोदी प्रयागराज में 26,526 दिव्यांगों, बुजुर्गों को बांटेंगे उपकरण, बनेगा रिकॉर्ड

संगम नगरी प्रयागराज में 29 फरवरी को दिव्यांगों व बुजुर्गों का अनूठा कुंभ लगने जा रहा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रयागराज के 27 हजार दिव्यांगों व बुजुर्गों को उपकरण बांटेंगे। लाभार्थियों की संख्या के लिहाज से यह अब तक का सबसे बड़ा वितरण शिविर होगा। प्रयागराज में एक साथ इतने लोगों को सहायता उपकरण बांटे जाने का वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बनेगा।

इस कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ ही यूपी की गवर्नर आनंदी बेन पटेल, सीएम योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भी मौजूद रहेंगे।

29 फरवरी को पीएम विशेष वायुयान से प्रयागराज आएंगे

पीएम मोदी 29 फरवरी को पूर्वाह्न लगभग 11 बजे विशेष वायुयान से बमरौली एयरपोर्ट पहुंचेंगे और फिर वह तीन हेलीकॉप्टर से परेड मैदान में उतरेंगे। वहां हेलीपैड बनाने के निर्देश दिए गए है। प्रधानमंत्री जब कार्यक्रम स्थल पर पहुंचेंगे तो सबसे पहले दिव्यांगजनों व बुजुर्गों से मिलेंगे। वह लगभग 15 मिनट तक दिव्यांगों के बीच रहेंगे फिर मंच पर जाएंगे।

सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम

पीएम के इस कार्यक्रम को लेकर सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम किए गए हैं। पुलिस और पीएसी के साथ 10 कंपनी पैरा मिलिट्री फोर्स लगाई गई है। मंच और आसपास की जगह की निगहबानी एसपीजी सीधे तौर पर कर रही है। पीएम मोदी इस मौके पर लोगों को संबोधित भी करेंगे। कार्यक्रम की तैयारियों में सरकारी अमला दिन रात जुटा हुआ है।

बनेगा वर्ल्ड रिकॉर्ड

चीफ वार्डन अनिल कुमार की अगुवाई में सिविल डिफेंस के 800सौ कर्मचारियों की भी ड्यूटी लगाई गई है। दुनिया में किसी भी जगह दिव्यांगों व बुजुर्गों को इतनी संख्या में पहले कभी उपकरण नहीं बांटे गए। इस आयोजन को गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी जगह मिलनी तय है।

बता दे की इससे पहले राजकोट में एक शिविर में 18000 दिव्यांगों को उपकरण बांटे गए थे जबकि प्रयागराज में कुल 26,526 लोगों को उपकरण बांटे जाएंगे।

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे की रखेंगे आधारशिला

प्रयागराज में बीजेपी कार्यकर्ता भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस कार्यक्रम के आयोजन को लेकर खासे उत्साहित हैं। प्रयागराज के बाद प्रधानमंत्री परेड मैदान से ही हेलीकॉप्टर द्वारा चित्रकूट जाएंगे, जहां वह बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे की आधारशिला रखेंगे। वहां से अपराह्न करीब चार बजे वह बमरौली हवाई अड्डे पहुंचेंगे और विशेष विमान से दिल्ली लौट जाएंगे।

पिछले 14 माह में चौथी बार प्रयागराज आ रहे है पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को प्रयागराज आ रहे हैं। इसके साथ ही बतौर प्रधानमंत्री संगम की पवित्र धरती पर 14 माह में चार बार आने का कीर्तिमान भी वह बनाएंगे।

करीब 14 महीने पहले 16 दिसम्बर 2018 को प्रधानमंत्री मोदी प्रयाग आये थे और कुम्भ मेले के सफल आयोजन हेतु उन्होंने गंगा पूजन किया था। फिर कुम्भ के समापन पर 24 फरवरी 2019 को पवित्र संगम में पुण्य की डुबकी लगाई थी और परेड मैदान में ही सफाईकर्मियों का पांव पखारकर पूरी दुनिया को उन्होंने समरसता का संदेश दिया था। इसके बाद लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान नौ मई को मोदी ने इसी परेड मैदान में भारतीय जनता पार्टी की संकल्प सभा को संबोधित किया था। इस तरह 14 महीने के अंदर चौथी बार वह 29 फरवरी को तीर्थराज प्रयाग के उसी परेड मैदान में पहुंच रहे हैं।

अब तक देश के चार प्रधानमंत्री का नाता रहा है प्रयागराज से

देश को सर्वाधिक चार प्रधानमंत्री देने का गौरव संगम नगरी प्रयागराज को ही है। स्वतंत्र भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु की यह कर्मभूमि रही। प्रयागराज के फूलपुर संसदीय क्षेत्र से ही वह लोकसभा पहुंचते थे। दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री भी प्रयागराज के इलाहाबाद संसदीय क्षेत्र से चुनाव जीतते थे। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी यद्यपि चुनाव रायबरेली से लड़ती थीं, लेकिन प्रयागराज उनकी जन्मभूमि थी और यहां से उनका आजीवन गहरा नाता रहा। इसके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह तो इसी जनपद के मूल निवासी थे। ये चारों राजनेता प्रधानमंत्री के पद पर रहते हुए शायद ही 14 माह में दो या तीन बार प्रयागराज की धरती पर पहुंच पाये होंगे। लेकिन, नरेंद्र मोदी बतौर प्रधानमंत्री 14 महीने में चौथी बार संगम नगरी पहुंच रहे हैं, जबकि प्रयागराज से उनका कभी कोई नजदीक का नाता नहीं रहा।