मॉनसून सत्र से गायब रहने वाले सांसदों पर पीएम मोदी हुए सख्त, मांगी लिस्ट

राज्यसभा हो या लोकसभा दोनो ही सदनो में इस वक्त विपक्ष और सत्ता पक्ष के बीच में कूटनीतिक लड़ाई का दौर चल रहा है। दोनो ही इस दौरान कोई कमी ना रह जाये इसका पूरा ध्यान रख रहे है। खासकर संसद में सांसदों की उपस्थिति को लेकर दोनो काफी संजीदा है। इसी क्रम में पीएम मोदी ने उन राज्यसभा सदस्यों को लेकर नाराजगी जताई है जो मॉनसून सत्र से गायब रहे है।   

पीएम मोदी ने मांगी सांसदों की लिस्ट

बैठक के दौरान पीएम मोदी  ने सोमवार को ‘अधिकरण सुधार विधेयक, 2021’ को राज्य सभा में पारित किए जाने के वक्त ज्यादातर सांसदों के अनुपस्थित रहने को लेकर नाराजगी जाहिर की है। जानकारो की माने तो पीएम मोदी ने नाराजगी जताते हुए उन सांसदों की लिस्ट मंगवाई है जो सोमवार को विधेयक के पारित होने के दौरान सदन में उपस्थित नहीं थे गौरतलब है कि राज्य सभा में सोमवार को संक्षिप्त चर्चा के बाद विपक्षी दल के सांसदों के हंगामे के बीच ‘अधिकरण सुधार विधेयक, 2021’ को मंजूरी दे दी गई। इस विधेयक में चलचित्र कानून, सीमा शुल्क कानून, व्यापार चिन्ह कानून सहित कई कानूनों में संशोधन करने का प्रस्ताव किया गया है।

पीएम मोदी ने सांसदों को दिए 3 टास्क

इस बीच पीएम मोदी ने सांसदों  से तीन मुद्दों पर बड़े पैमाने पर अभियान चलाने के लिए कहा, जिनमें कुपोषण उन्मूलन, अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में खेलों को प्रोत्साहित करने और आयुष्मान भारत योजना के तहत ‘गोल्डन कार्ड’ के बारे में जागरूकता पैदा करना शामिल है। सूत्रों के अनुसार, पीएम मोदी ने कहा कि सांसदों को कुपोषण उन्मूलन का मुद्दा उठाना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि पोषण प्रदान करने के उद्देश्य से सामाजिक योजनाओं को जमीन पर लागू किया जाए। इसके साथ साथ खेलो इंडिया प्रोग्राम को बढ़ावा देने की बात भी पीएम मोदी ने दी लेकिन इस बीच वो उन सांसदों से नाराज दिख रहे थे जो लगातार सदन से गैरहाजिर हो रहे है

ये भी सभी जानते है कि पीएम मोदी अनुशासन को लेकर काफी सख्त रहते है फिर वो कोई भी मामला क्यो ना हो। ऐसे में ये तो पक्का है कि पीएम मोदी सदन से अनुपस्थिति रहने वाले सांसदों पर जरूर कुछ ना कुछ सख्त कार्यवाही जरूर करेंगे।