497 दिनों के बाद बंग्लादेश जायेंगे पीएम मोदी

पीएम मोदी करीब 16 महीने (497 दिनों) के बाद विदेश यात्रा करने वाले हैं। कोरोना महामारी की वजह से मोदी जी काफी लंबे अर्से से विदेश दौरे पर नहीं जा पाए हैं लेकिन कोरोना महामारी के बीच अब वो पहली बार बंग्लादेश की यात्रा पर जा रहे है।

पीएम मोदी और शेख हसीना की मुलाकात, भारत और बांग्लादेश के बीच हुए अहम समझौते  | Hindi News, देश

दो दिन के बांग्लादेश दौरे पर पीएम मोदी

कोरोना संकट के बीच फिलहाल लंबे वक्त से पीएम मोदी ने किसी देश का दौरा नहीं किया है और अब 26-27 मार्च को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बांग्लादेश के दौरे पर रहेंगे। यानि करीब 16 महीने बाद पीएम मोदी के विदेश दौरे का संयोग बन रहा है। प्रधानमंत्री मोदी बांग्लादेश की 50वीं स्वतंत्रता दिवस समारोह में शामिल होंगे वहीं बंगबंधु शेख मुजीबुर्रहमान का जन्म शताब्दी वर्ष होने के नाते भी पीएम मोदी को न्योता भेजा गया था। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का ये दौरा कई वजहों से काफी महत्वपूर्ण रहने वाला है। सरकार की माने तो पीएम मोदी का ये दौरा कई मायनों में बेहद अहम होने वाला है और दोनों देशों के बीच कई अहम समझौते होने की भी उम्मीद है।’ भारत की ‘पड़ोसी पहले नीति’ के तहत बांग्लादेश का प्रमुख स्थान है और भारत की ईस्ट एक्ट पॉलिसी के तहत भी बांग्लादेश बेहद अहम स्थान रखता है, लिहाजा हम पीएम मोदी के बांग्लादेश दौरे को लेकर काम कर रहे हैं और बेशक पीएम मोदी की ये यात्रा काफी यादगार होने वाली है’। भारत ने बांग्लादेश को विश्वास दिलाते हुए कहा है कि ‘एक सच्चे दोस्त की तरह भारत हमेशा बांग्लादेश का मददगार रहेगा।

2019 में किया था ब्राजील का दौरा

पीएम मोदी ने आखिरी बार ब्राजील दौरे पर गये थे और उसके 497 दिनों बाद जाकर फिर से पीएम मोदी के विदेश यात्रा का संयोग बना है। नवंबर 2019 में पीएम मोदी ने ब्राजील का दौरा किया था। उसके बाद पीएम मोदी ब्रसेल्स में हिस्सा लेने विदेश जाने वाले थे मगर वो कोरोना वायरस की वजह से कैंसिल हो गया था। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2019 में 14 देशों की यात्रा की थी मगर 2020 में कोरोना वायरस की वजह से एक भी देश की यात्रा नहीं कर पाए। वहीं, पीएम मोदी ने साल 2018 में 20 देशों की तो 2017 में 17 देशों की यात्रा की थी। पीएम मोदी ने 2015 में 13 देशों की तो 2016 में पीएम मोदी ने 17 देशों की यात्रा की थी। 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद 2020 ही एक ऐसा साल रहा जब पीएम मोदी देश से बाहर नहीं जा पाए।

कोराना काल में ये एक अच्छी खबर है क्योकि मोदी जी के विदेश दौरे से एक ओर पड़ोसी देशों से संबध बेहतर होगे तो दूसरी तरफ भारत में निवेश भी काफी बढ़ेगा। लगातार मोदी जी इसी के लिये तो विदेश यात्रा करते रहते है जिससे देश के आर्थिक हालात बेहतर हो सके।