छत्रपति शिवाजी महाराज की 390वीं जयंती पर पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

भारत के वीर सपूत मराठा साम्राज्य की नींव रखने वाले छत्रपति शिवाजी महाराज की आज 390वीं जयंती है। बहुत से लोग शिवाजी को हिन्दू ह्रदय सम्राट भी कहते है। इस अवसर पर देश भर में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें श्रद्धांजलि दी और कहा कि उनका जीवन आज भी लाखों लोगों को प्रेरित करता है।

ट्वीट कर उन्होंने लिखा, ‘‘ भारत माता के महान सपूतों में से एक, साहस, करुणा और सुशासन के अवतार, छत्रपति शिवाजी को उनकी जयंती पर नमन।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि शिवाजी का जीवन आज भी लाखों लोगों को प्रेरित करता है।

शिवाजी की जयंती के मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी उन्हें याद करते हुए ट्वीट किया है।

शाह ने लिखा ‘हिन्दवी स्वराज्य के संस्थापक व साहस, शौर्य और पराक्रम के पर्याय छत्रपति शिवाजी महाराज न सिर्फ एक आदर्श शासनकर्ता थे बल्कि भारतीय वसुंधरा को गौरवान्वित करने वाले आदर्श पुरुष भी थे। मातृभूमि के लिए उनकी निष्ठा, समर्पण और बलिदान हमें सदैव प्रेरित करेगा। शिव जयंती पर उन्हें नमन।’

आपको बता दे कि छत्रपति शिवाजी को भारत के सबसे बहादुर शासकों में से एक माना जाता है, जो औरंगज़ेब और मुग़ल सम्राट के खिलाफ मराठा साम्राज्य की स्थापना के लिए लड़े थे। वह पहले भारतीय शासकों में से एक थे, जिनके बारे में कहा जाता है कि उन्होंने महाराष्ट्र के कोंकण पक्ष की रक्षा के लिए “नौसेना बल” की अवधारणा पेश की थी। वह अपने मूल में धर्मनिरपेक्ष थे और उनकी अपनी बटालियन में कई मुस्लिम सैनिक थे।

मराठा साम्राज्य की नींव रखने वाले छत्रपति शिवाजी का जन्म 19 फरवरी 1630 को शिवनेरी दुर्ग में हुआ था। शिवाजी का पूरा नाम शिवाजी भोंसले था। छत्रपति शिवाजी की जयंती को शिव जयंती और शिवाजी जयंती भी कहते हैं। महाराष्ट्र में शिवाजी जयंती पारंपरिक तरीके से मनाई जाती है। महाराष्ट्र में इस दिन सार्वजनिक अवकाश होता है। शिवाजी को उनकी बहादुरी और रणनीतियों के लिए जाना जाता है, जिससे उन्होंने मुगलों के खिलाफ कई युद्धों को जीता। छत्रपति शिवाजी स्वराज और मराठा विरासत के लिए जाना जाता है।