पीएम मोदी ने 15 हजार करोड़ रुपये की लागत बनने वाले बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे की आधारशिला रखी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चित्रकूट में करीब 15 हजार करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले 296 किलोमीटर लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे की बटन दबाकर आधारशिला रखी। इस दौरान उन्होंने लोगों को संबोधित किया। उत्तर प्रदेश सरकार बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का निर्माण कर रही है, जो चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर और जालौन जिलों से गुजरेगा। यह एक्सप्रेस-वे बुंदेलखंड क्षेत्र को आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे और यमुना एक्सप्रेस-वे के रास्ते से जोड़ेगा। इसके साथ ही यह बुंदेलखंड क्षेत्र के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। बताया जा रहा है कि एक्सप्रेस-वे के इर्द-गिर्द ही डिफेंस कॉरिडोर को डेवलप किया जाएगा।

पीएम मोदी ने लोगों को संबोधित करते हुए बुंदेलखंडी भाषा में अपने भाषणों की शुरुआत गोस्वामी तुलसीदास के दोहे से की। गोस्वामी तुलसीदास ने कहा है कि चित्रकूट के घाट पर संतन की भीड़ हुई है । आज आपको देखकर आपके इस सेवक को कुछ-कुछ ऐसी ही अनुभूति हो रही है। चित्रकूट सिर्फ एक स्थान नहीं है, बल्कि भारत के पुरातन समाज जीवन की संकल्प स्थली और तप स्थली भी है।

चित्रकूट की सभा में में पीएम मोदी ने यह भी कहा कि बुंदेलखंड सहित पूरे भारत को जल जीवन मिशन अभियान का व्यापक लाभ मिलने वाला है। अब देश का एक-एक जन भारत को जलयुक्त और सूखा मुक्त करने के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहा है। आने वाले पांच वर्ष में देश के लगभग 15 करोड़ परिवारों तक शुद्ध पीने का पानी पहुंचाने के संकल्प के लिए काम तेजी से शुरू हो चुका है और इसमें भी प्राथमिकता आकांक्षी जिलों को दी जा रही है।

एक्सप्रेसवे लाएगा 60 हजार लोगों के लिए रोजगार के अवसर

प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी ने कहा कि करीब 15 हजार करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे रोजगार के हजारों अवसर पैदा करेगा इस 296 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस-वे से चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, ओरैया और इटावा जिलों को लाभ मिलेगा। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर सरकार 14849.09 करोड़ रुपये खर्च करेगी। यह एक्सप्रेस-वे बुंदेलखंड क्षेत्र को सड़क मार्ग के जरिए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से जोड़ेगा। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के लिए 95.46 फीसदी भूमि का क्रय और अधिग्रहण किया जा चुका है। इसका निर्माण कार्य शुरू होने से लगभग 60 हजार लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है।

बुंदेलखंड के विकास में निभाएगा महत्वपूर्ण भूमिका

इसके साथ ही यह बुंदेलखंड क्षेत्र के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा. इस 296 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस-वे से चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, ओरैया और इटावा जिलों को लाभ मिलेगा। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे से यूपी डिफेंस कॉरिडोर को भी गति मिलने वाली है।

बुंदेलखंड क्षेत्र मेक इन इंडिया का बहुत बड़ा सेंटर बनने वाला है। यहां बना साजो-सामान पूरे विश्व में निर्यात भी होगा। यहां बड़ी-बड़ी फ्रैक्ट्रियां लगनी शुरू हो जाएंगे तो आस-पास के व्यापक और लघु उद्घोग को भी लाभ होगा। यहां के किसानों को भी लाभ होगा। इस तहर रोजगार के अवसर पैदा होंगे और हर परिवार की आय में बढ़ोतरी होगी।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •