प्रधानमंत्री मोदी ने UN हेडक्वार्टर में किया गाँधी सोलर पार्क का उद्घाटन

पीएम मोदी ने यूएन मुख्‍यालय में गांधी सोलर पार्क का उद्घाटन किया | तस्वीर साभार: @narendramodi

प्रधानमंत्री मोदी ने विश्व नेताओं की उपस्थिति में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में गांधी सोलर पार्क का उद्घाटन किया। 50 किलोवाट के गांधी सोलर पार्क का उद्घाटन कल पीएम मोदी ने किया। इस मौके पर बांग्लादेश की प्रधान मंत्री शेख हसीना और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून-जे-इन सहित विश्व के कई नेता भी न्यूयॉर्क में इस खास मौके पर मौजूद थे और उन्होंने पीएम मोदी के साथ खड़े होकर गांधी सोलर पार्क का उद्घाटन किया।

संयुक्त राष्ट्र का मुख्यालय अब हरित ऊर्जा से संचालित होगा। भारत द्वारा उपहार में दिया जाने वाला गांधी सोलर पार्क, जलवायु परिवर्तन से लड़ने के लिए नई दिल्ली की प्रतिबद्धता का प्रतीक होगा ।

लगभग 1 मिलियन डॉलर की लागत से लगाए गए 193 सौर पैनल 50 किलोवाट बिजली पैदा करेगी, प्रत्येक सौर पैनल संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राष्ट्र का प्रतिनिधित्व करेगी। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि अकबरुद्दीन ने कहा, ‘193 सौर पैनल सभी 193 देशों का प्रतिनिधित्व करेगा । प्रत्येक देश के लिए एक-एक पैनल लगाया गया है। हम सौर ऊर्जा में ही नहीं, बल्कि समानता में भी विश्वास करते हैं।’

महात्मा गांधी पर डाक टिकट | तस्वीर साभार: ANI

संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य नेताओं ने महात्मा गांधी पर संयुक्त राष्ट्र डाक टिकट भी जारी किया। यह डाक टिकट एक कार्यक्रम ‘समकालीन विश्व में महात्मा गांधी की प्रासंगिकता’ में जारी किया गया।

इसके अलावा मोदी ने संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में महात्मा गांधी की 150 जयंती के उपलक्ष्य में एक विशेष कार्यक्रम ‘ नेतृत्व के मायने : समकालीन विश्व में गांधी की प्रासंगिकता’ की मेजबानी की । यह कार्यक्रम महात्मा गांधी के 150वें जयंती वर्ष को मनाने के लिए आयोजित किया गया था। जिसमें उनके विचारों और मूल्यों की आज के समय में लगातार प्रासंगिकता पर चर्चा की गई।

प्रधानमंत्री मोदी ने इस मौके पर कहा कि गांधी जी ने उन लोगों को भी प्रेरणा दी जो उनसे कभी नहीं मिले। मार्टिन लूथर किंग और नेल्सन मंडेला की नीतियां और विचारधाराएं महात्मा गांधी के दृष्टिकोण पर ही आधारित थीं। मोदी ने कहा की “गाँधी जी के सिद्धांत मानवता की रक्षा करने के लिए मार्गदर्शक की तरह काम करते हैं। मुझे विश्वास है कि गांधी जी का दिखाया ये रास्ता बेहतर विश्व के निर्माण में प्रेरक सिद्ध होगा।“

वहीं, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि गांधी जी एक सच्चे देशभक्त, राजनीतिज्ञ और संत थे। उन्होंने अपना जीवन मानव जाति के लिए समर्पित कर दिया। वह आशा की किरण और अंधेरे में प्रकाश की तरह थे।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के साथ कई राष्ट्राध्यक्षों और शासनाध्यक्षों ने इस अवसर पर गांधीजी को श्रद्धांजलि अर्पित की और उनके संदेश के महत्व को याद किया।