मीडिया संस्थान द्वारा आयोजित कार्यक्रम में पीएम मोदी ने बताया अपनी सरकार का रोडमैप

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

HT_Leadership_Summit_2019 | PC - Hindustan Times

हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि 130 करोड़ भारतीयों के बेहतर भविष्य के लिए सही इरादे, बेस्ट टेक्नोलॉजी और योजनाओं को प्रभावी तरीके से लागू किया जाए, यही हमारी सरकार का रोडमैप है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मीडिया संस्थान की ओर से आयोजित कार्यक्रम में अयोध्या फैसले के बाद देश के माहौल पर कहा कि यह बेहतर भविष्य का संकेत है। पीएम ने आर्टिकल 370 का जिक्र करते हुए कहा कि राजनीतिक तौर पर भले ही यह फैसला मुश्किल होगा, लेकिन हमने लिया। अपनी सरकार के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि हम जिम्मेदारी से नहीं भागते हैं इसलिए यह सरकार साहसिक फैसले लेनेवाली सरकार साबित हुई है। हम देश को वादों की राजनीति की बजाए कामकाज की राजनीति की तरफ ले जा रहे हैं।

गवर्नेंस के इन्फ्रास्ट्रक्चर में किया जा रहा सुधार का लाभ आने वाले दशकों तक देश को मिलने वाला है। पीएम ने कहा कि देश के बेहतर कल के लिए, आज समय की मांग है कि सरकार गर्वेनेंस के मुख्य क्षेत्रों पर काम करे। लोगों के जीवन में सरकार का दखल जितना कम होगा, और सुशासन जितना ज्यादा होगा, उतना ही तेजी से देश आगे बढ़ेगा। उन्होंने अपने भाषण में अपनी सरकार का रोडमैप बताया जिसकी मुख्य बातें इस प्रकार हैं-

1. 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी

पीएम नरेंद्र मोदी भारत को 5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनाने की बात कर चुके हैं। समिट में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, आज भारत पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी बनाने के लिए जुटा हुआ है। ये लक्ष्य अर्थव्यवस्था के साथ-साथ 130 करोड़ भारतीयों की औसत आय, उनकी ईज ऑफ लिविंग और उनके बेहतर कल से जुड़ा हुआ है। हम रिफॉर्म और परफॉर्म के वादे से आगे बढ़ रहे हैं।

HT Summit 2019 | PC - @rajkraj_ht

2. पीएम मोदी ने कहा- हम परफॉर्मेंस की राजनीति करते हैं वादों की राजनीति नहीं

पीएम मोदी ने कहा- पिछली सरकारों की तरह हम वादों की राजनीति नहीं करते हैं बल्कि देश को आगे ले जानेवाले परफॉर्मेंस की राजनीति करते हैं। हमने लक्ष्य तय किया है और उसकी हिसाब से कार्य संस्कृति को बढ़ावा दे रहे हैं।

3. 100 लाख करोड़ रुपये की परियोजनाएं

प्रधानमंत्री ने भारत में इन्फ्रास्ट्रक्चर विस्तार पर जोर दिया। उन्होंने कहा, ‘भारतीयों के बेहतर कल के हमारे सपने में एक चीज और बहुत अहम रही है। ये है भारत में World Class Infrastructure, आने वाले कुछ वर्षों में इस सपने को पूरा करने के लिए सरकार 100 लाख करोड़ रुपये की परियोजनाएं शुरू करने जा रही है।‘

4. नागरिकता (संशोधन) विधेयक

मोदी ने नागरिकता (संशोधन) विधेयक का जिक्र करते हुए कहा कि अपने देशों में उत्पीड़न का शिकार हो रहे लोगों को भारतीय नागरिकता देने से बेहतर कल सुनिश्चित होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने समिट में नागरिकता संशोधन विधेयक के संदर्भ में कहा, ‘पड़ोसी देशों से आए सैकड़ों परिवार जिन्हें भारत में आस्था थी जब इनकी नागरिकता का रास्ता खुलेगा तो उससे उनका बेहतर भविष्य सुनिश्चित होगा।’ उल्लेखनीय है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को नागरिकता संशोधन विधेयक को मंजूरी दे दी।

5. जल जीवन मिशन

पीएम मोदी ने कहा- देश के उज्ज्वल भविष्य की चिंता थी, इसलिए ही देश में स्वच्छ भारत अभियान शुरू हुआ और अब उतनी ही शक्ति से जल जीवन मिशन की शुरुआत हुई है। आने वाले वर्षो में 15 करोड़ घरों की पानी की सप्लाई से जोड़ने के लिए हम काम कर रहे हैं।

17th Hindustan Times Leadership Summit | PC - @htTweets

6. 112 पिछड़े जिलों के विकास पर जोर

112 जिलों को अब हमारी सरकार Aspirational Districts की तरह विकसित कर रही है। डवलपमेंट के हर पैरामीटर पर, गवर्नेंस के हर पैरामीटर पर अब पूरा फोकस करके हम इन जिलों में काम कर रहे हैं।

7. ई असेसमेंट स्कीम

कारोबारियों को कोई अधिकारी तंग न कर सके इसके लिए ई असेसमेंट स्कीम लागू की है। किसी इनकम टैक्स अधिकारी के पास आपकी फाइल जाएगी ये न तो व्यक्ति को पता होगा और न ही अधिकारी को इसकी जानकारी होगी कि कोई फाइल किसकी है।

8. टैक्स सुधार

टैक्स दर में कमी, ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में सुधार, लेबर सुधार, विनिवेश पर लगातार काम कर रहे हैं। इस दिशा में लगातार उठाए कदम गए हैं। हमने 5 लाख रुपये तक की आय टैक्स फ्री किया है। प्रति माह 40000 रुपये कमाने वालों को काफी फायदा हुआ। सेविंग के साथ 70 हजार कमाई वालों को फायदा हुआ।

9. पुराने गैरजरूरी कानूनों को खत्म

पुराने कानूनों को खत्म किया है और कर रहे हैं। नियमों को आसान बना रहे हैं।

10. अकुशल सरकारी कर्मियों को वीआरएस

पीएम ने अकुशल सरकारी कर्मियों को वीआरएस देने का भी जिक्र किया। पीएम ने कहा कि हम प्रफेशनलिज्म पर जोर दे रहे हैं और ऐसे अधिकारियों को हमने विदा कर दिया। इससे नए अधिकारियों के बीच अच्छा संदेश जा रहा है।

 


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •