एनसीसी कैडेट्स के बीच खुद को खोजते पीएम मोदी

शायद नरेंद्र मोदी देश के पहले ऐसे पीएम होंगे जो खुद एनसीसी कैडेट्स रह चुके है तभी तो वो हमेशा देश के युवाओं से अपील करते हुए दिखाई देते है कि वो NCC का हिस्सा जरूर बने। इसी क्रम में पीएम मोदी ने गणतंत्र दिवस के बाद NCC रैली में हिस्सा लिया और एनसीसी कैडेट्स के जौहर को देख उन्हे कुछ मंत्र भी दिया। लेकिन चलिये NCC से जुडे पीएम मोदी के एक किस्से को आज हम आपको बताते है।

NCC में क्या मोदी जी को मिल चुकी है सजा ?

बात साल 2019 की है जब नागालैंड के NCC कैडेट विनोले ने पीएम मोदी से सवाल किया था कि क्‍या कभी आपको NCC में सजा मिली थी? इसपर पीएम मोदी ने हंसते हुए कहा था कि इसका मतलब आप लोगों को सजा मिलती है। जवाब हां, में मिलने पर पीएम मोदी ने NCC के अपने दिनों का एक किस्‍सा सुनाया था। मोदी ने कहा था, “नहीं, मेरे साथ ऐसा कभी हुआ नहीं क्योंकि मैं हमेशा अनुशासन के दायरे में रहता था लेकिन एक बार एक कैम्‍प के दौरान कुछ गलतफहमी हो गई थी। मैं एक पेड़ पर चढ़ गया था… पहले सबने सोचा कि यह अनुशासनहीनता है। बाद में सबकी समझ आया कि मैं पतंग के मांझे में फंसे एक पक्षी को छुड़ाने पेड़ पर चढ़ा था। पहले मेरे को भी लगा कि मुझे सजा मिलेगी लेकिन बाद में इसके लिए सबने मेरी तारीफ की।”

अनुशासन जीवन का मंत्र

पीएम मोदी की ये कहानी बताती है कि अनुशासन में रहने पर हमेशा आप देश और समाज का हित करते है। फिर वो NCC  रहते हुए हो या समाजिक जीवन में अगर आप अनुशासित रहते है तो इसका फायदा देश और समाज को मिलता है क्योकि ऐसा आदमी हमेशा सही कदम ही उठाता है इस लिये अनुशासन को जीवन का हिस्सा बनाना बहुत आवश्यक है और NCC यही तो हमे सिखाती है कि कैसे हमे अनुशासन में रहकर अपने आपको सफल बनाना है।

एनसीसी कैडेट्सका जोश और जज्बा कही नही

जिस तरह का जोश और जज्बा एनसीसी कैडेट्समें देखने को मिलता है ऐसा शायद ही किसी संगठन में देखने को मिलता हो देश में कोई भी आपदा कि स्थिति हो सबसे आगे एनसीसी कैडेट्स आपको दिखेगे। जो लोगो की लगातार मदद करते हुए दिखाई दे रहे होगे। आज इस क्रम में एनसीसी कैडेट्समें देश की बेटियां भी आगे आ रही है। लगातार उनकी बढ़ती संख्या यही बता रही है कि वो भी देशसेवा में किसी से पीछे नही रहने वाली।

हरबार की तरह पीएम मोदी इस बार भी एनसीसी कैडेट्स के बीच पीएम खोए हुए दिखाई दिए मानो लग रहा था कि पीएम इन बच्चों के बीच में अपने आपको खोज रहे हो जो आज से कई साल पहले इस वर्दी में ड्रिल करता हुआ हो लेकिन ये तय है कि एनसीसी का अनुशासन ही है जो नरेंद्र मोदी को पीएम मोदी में बदल सका।