कृषि बिल पर फैलाई जा रही अफवाह को पीएम मोदी ने किया दूर

कृषि बिल 2020 को लेकर एक बार फिर से सरकार की जो मंशा है उसे देश के पीएम मोदी जी ने सबके सामने रखा। इसके साथ साथ उनकी भी पोल खोली जो लोग इस बिल को किसान विरोधी बता रहे है।

काले धन कमाने का एक तरीका और हुआ खत्म

पीएम मोदी ने कृषि बिल को लेकर साफ किया कि ये बिल किसानों के हित में है। इस बिल से किसानों को उनकी फसल की पूरी कीमत मिलेगी और बिचौलियों की दुकान बंद होगी। पीएम मोदी ने किसानों को फिर बताया कि बिल आने के बाद भी MSP के तहत ही किसान अपनी फसल बेच सकते है साथ ही दूसरी जगह भी फसल बेचने की आजादी किसान के पास होगी। जिससे किसान की आय बढ़ सके।

नए कानूनों के डर को दूर करने की कोशिश

मोदी ने फिर से कृषि क्षेत्र और श्रम सुधारों पर नए कानूनों के डर को दूर करने की कोशिश की। उन्होंने कहा, ‘संसद के मॉनसून सत्र के दौरान किसानों, मजदूरों और स्वास्थ्य से संबंधित कई सुधार लाए गए थे। ये सभी सुधार केवल मजदूरों, युवाओं, महिलाओं और किसानों को मजबूत करेंगे। देश इस बात का भी गवाह है कि कैसे कुछ लोग महज विरोध करने के लिए इनका विरोध कर रहे हैं।’ जैसा वो पहले भी करते आये है जैसे उन्होने CAA का विरोध किया या फिर राम मंदिर निर्माण का मुद्दा हो और तो और सर्जिकल स्ट्राइक सभी का विरोध करके उन्होने ये बता दिया कि वो सिर्फ विरोध के लिए विरोध करते हैं।

अब पैसा ना पानी की तरह बहता है ना पानी में बहाया जाता है

उत्तराखंड में सीवेज ट्रीट के लिए ‘नमामि गंगे’ परियोजना के तहत 6 परियोजनाओं का उद्घाटन करने के दौरान पीएम ने साफ किया कि 6 साल से सरकार जो भी योजना बना रही है उसे पूरा भी कर रही है। नया भारत बनाने के साथ साथ सरकार देशवासियों को पाई पाई खर्च के बारे में भी बताती है। इसके साथ साथ तय वक्त पर काम होने के कारण पैसा भी कम खर्च होता है। इसका जीता जागता उदाहरण हर घर जल पहुंचाने की सरकार की योजना है। पानी से जुड़ी चुनौतियों के साथ  जल मंत्रालय देश के हर घर तक जल पहुंचाने के मिशन में जुटा हुआ है। आज जल जीवन मिशन के तहत हर दिन करीब 1 लाख परिवारों को शुद्ध पेयजल की सुविधा से जोड़ा जा रहा है। सिर्फ 1 साल में ही देश के 2 करोड़ परिवारों तक पीने का पानी पहुंचाया जा चुका है। ऐसी तमाम योजना है जिसे तय वक्त में पूरा किया जा रहा है। फिर वो सेना से जुडी हो या फिर देश की जनता के हित में हो।

ठीक वक्त पर ठीक बात करना पीएम मोदी की पुरानी आदत है आज के संबोधन से ये आप भी समझ गये होंगे कि पीएम मोदी कृषि बिल 2020 को लेकर देश में फैलाई जा रही अफवाह को खुद दूर करने के लिये आगे आ गये है और पीएम जब देश से संवाद करते है तो फिर ये भी तय है कि हर शंका देशवासियों की दूर हो जाती है। ये पहले भी हम देख चुके है और आगे भी देखते रहेंगे।