सर्वदलिय बैठक में पीएम मोदी का ऐलान, भारत कभी किसी के दबाव में न आया है न आएगा

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर उठ रहे राजनीतिक सवालों के बीच पीएम मोदी ने सभी दलों को स्पष्ट कर दिया है कि न तो कोई हमारी सीमा में घुसा है और न ही कोई पोस्ट किसी के कब्जे में है। मोदी ने यह भी आश्वस्त किया है कि देश की सेनाएं सक्षम भी हैं और सरकार की ओर से उन्हें यथोचित कार्रवाई की पूरी छूट भी दे दी गई है। कोई आंख उठाकर भी नहीं देख सकता है।

कोई सीमा में घुसा है, कोई पोस्ट किसी के कब्जे में

मौका था सर्वदलिय बैठक का जिसमे चीन भारत सीमा विवाद को लेकर विपक्ष ने पीएम मोदी से कई तरह के सवाल पूछे हालाकि पीएम मोदी के जवाब के बाद विपक्ष संतुष्ट दिखा और एक स्वर में सरकार के साथ खड़े होकर चीन को सबक सीखाने की बात कही। इस मौके पर पीएम मोदी ने विपक्ष के साथ साथ देश के लोगो को भी भरोसा दिलाया कि न कोई सीमा में घुसा है न कोई पोस्ट किसी के कब्जे में है। इसके साथ पीएम मोदी ने कहा चाहे ट्रेड हो, कनेक्टिविटी हो या काउंटर टेररिज्म हो, भारत कभी किसी के दबाव में न आया है न आएगा। देश की रक्षा के लिए जल-थल-नभ सभी जगहों पर हमारी सेनाएं पूरी तरह मुस्तैद हैं। हमारी जमीन पर कब्जे की बात तो दूर, उसकी ओर कोई आंख उठाकर भी नहीं देख सकता है।’ चीन के साथ लंबी सीमा और पाकिस्तान की ओर से खतरे की आशंका की ओर इशारा करते हुए कहा, आज हमारी सेनाएं अलग-अलग सेक्टर्स में एक साथ मूव करने में सक्षम हैं और इसमें सीमांत क्षेत्रों में तैयार आधारभूत ढांचा काफी मददगार साबित हो रहा है। इससे चीन सीमा पर हम बेहतर निगरानी कर पा रहे हैं। पहले जिन क्षेत्रों में चीनी फौज बेरोक-टोक घूमती थी, वहां अब हमारे सैनिक डगर-डगर पर सवाल-जवाब कर रहे हैं। इसीलिए तनाव बढ़ रहा है। मोदी ने सभी दलों को सुझावों के लिए धन्यवाद देते हुए कहा, देश की संप्रभुता की रक्षा सर्वोपरि है और सेना सक्षम है।

कूटनीति तौर पर चीन को मिल रहा है करारा जवाब

विपक्ष को पीएम मोदी ने ये भी भरोसा दिलाया कि चीन को कूटनीति तौर पर भी भारत करारा जवाब दे रहा है तभी चीन के खिलाफ आज भारत के साथ दुनिया के तमाम देश खड़े है साथ ही चीन के इस कदम की अलोचना भी कर रहे हैं। वहीं चीन खुद शांति का राग अलापकर धोखा देने से बाज आये इसके लिए विदेशमंत्री ने चीन के विदेश मंत्री से सीधी और सख्त लहजे में बात की है। इसके साथ पीएम ने बोला की चीन हो या भारत की दूसरी सीमा देशहित में किसी भी कीमत में वहां हो रहे कोई भी निर्माण कार्य नही रोके जाएंगे। यानी सड़को का निर्माण तेजी से किया जायेगा। जिससे सेना को सामरिक सहायता पहुंच सके। सरकार के इस भरोसे पर विपक्ष ने भी ऐतबार किया है।

हालाकि इस मौके पर कुछ लोगो ने राजनीति करने की कोशिश जरूर की लेकिन उन्हे समर्थन न के बराबर मिला जिससे ये साफ होता है कि देश हित में हम एक साथ हमेशा रहते हैं जो विश्व में भारत की ताकत को दिखायेगा जिसका असर चीन तक होगा ये तो पक्का है।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •