पीएम मोदी ने किसानों को फिर समझाया कृषि बिल का फायदा

एक तरफ किसान आंदोलन से धीरे धीरे साजिश का पर्दा हट रहा है तो दूसरी तरफ पीएम मोदी ने एक बार फिर से किसानों से सीधे संवाद करते हुए किसान बिल के हितों के बारे में किसानों को बताया। महाराज सुहेलदेव के स्मारक का शिलान्यास करते हुए पीएम मोदी ने किसानों को विश्वास दिलाया कि ये बिल सीमांत किसानों के हित में है, इससे उनकी आय में इजाफा होगा।

नये किसान बिल से देश के छोटे किसान के बहुरे के दिन

पीएम मोदी ने नए कृषि कानूनों को लेकर एक बार फिर कुछ लोगों पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि नए कृषि कानूनों के जरिए छोटे किसानों को लाभ होगा और कई जगहों पर किसानों को लाभ होने भी लगा है। कानूनों को लेकर दुष्प्रचार किया गया और किसानों को हराया है। इसके साथ पीएम मोदी ने कहा, ‘नए कृषि सुधारों का लाभ भी छोटे और सीमांत किसानों को सबसे ज्यादा होगा। यूपी में इन नए कानूनों के बनने के बाद जगह-जगह से किसानों के बेहतर अनुभव सामने आ रहे हैं। इन कृषि सुधारों के लिए भांति-भांति का प्रचार करने की कोशिश की गई।बेहतर होती आधारभूत सुविधाओं का सीधा लाभ किसानों, गरीबों, ग्रामीणों को हो रहा है। विशेष तौर पर छोटे किसान जिसके पास बहुत कम जमीन होती है, वो इन योजनाओं के सबसे ज्यादा लाभार्थी हैं। पहली बार किसी सरकार ने छोटे किसानों के बारे में सोचा है ये बात तो बिलकुल ठीक है।

इतिहास रचने वालों के साथ जो अन्याय हुआउसे सुधार रहा

इसके साथ साथ पीएम मोदी ने देश की जनता को ये भी बताया कि आज कैसे न लोगों को भी देश नमन कर रहा है जिन्हे हमेशा इतिहास में दफन कर दिया गया था लेकिन हमारी सरकार ने हर उस महापुरूष को सम्मान देना शरू कर दिया है जिनके बारे में देश बहुत कम जानता था या फिर जानता ही नहीं था। लेकिन आज ऐसे लोगों के ही स्मारक तैयार किये जा रहे है स्कूल में बच्चो को इनके बारे में पढ़ाया जा रहा है जिससे भारत के वीरों का सही परिचय हो पा रहा है जिससे देश अपनी विरासत के साथ जुड रहा है जिसका असर ये हो रहा है कि देश तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है।

मोदी जी ने किसानों के बीच अपनी बात रखकर ये साबित कर दिया है कि सरकार किसान को लेकर कितना संवेदशील है तभी आंदोलन पर बैठे किसानों से बात करने की अपील के साथ साथ खुद पीएम कृषि बिल का फायदा बताकर ये समझाने में लगे है कि सरकार किसान के साथ है।