मोदी सरकार की विदेश नीति पर निशाना साधने वाले कृपया ध्यान दें

  • 132
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

एक दौर था जब भारत पाकिस्तान द्वारा किये गये हिमाकत की शिकायत करने यूएन जाता था लेकिन अब वक्त बदल चुका है। अब पाकिस्तान भारत से इतना भयभीत है कि वो यूएन मे भारत के खिलाफ शिकायत करने पहुंच चुका हैऔर ये सब हुआ है पीएम मोदी की कुशल विदेश नीति के चलतेक्योकि इसका ही असर है कि आज पाकिस्तान विश्व मे अलग थलग पड़ चुका है।

UN मे मसूद अजहर खिलाफ फ्रांस प्रस्ताव लायेगा – पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान की फजीयत समूचे विश्व मे हो रही है। इस मामले पर एक कदम आगे बढ़ते हुए फ्रांस अब और ज्यादा सख्त हो गया है। जिसके चलते फ्रांस ने साफ कर दिया है कि वो पाकिस्तान में फल फूल रहे संगठन जैश ए मोहम्मद पर बैन लगाने के लिये यू एन मे प्रस्ताव लायेगा। फ्रांस के इस कदम को भारत के लिए बड़ी सफलता माना जा रहा है। यह दूसरा मौका होगा जब फ्रांस संयुक्त राष्ट्र में ऐसे किसी प्रस्ताव के लिए पक्ष बनेगा। इससे पहले 2017 में अमेरिका ने ब्रिटेन और फ्रांस के समर्थन से संयुक्त राष्ट्र की प्रतिबंध समिति 1267 में एक प्रस्ताव पारित किया था जिसमें पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन के प्रमुख पर प्रतिबंध की मांग की गई थीलेकिन चीन ने अड़ंगा लगा दिया था। इसके साथ साथ आर्थिक तौर पर पाकिस्तान पर बैन लगाने के लिए आर्थिक मंचो पर भी फ्रांस भारत के साथ खड़ा होगा।

इजराइल ने भारत के सुर मे सुर मिलाया– पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान को चौतरफा घेरने की कोशिश शुरू कर दी है। जिसके तहत इजराइल ने भी माना है कि पाकिस्तान भारत के राज्यो मे दहशत फैला रहा है। इजराइल ने इस मामले पर अपना रूख साफ करते हुए पुलवामा हमले की निंदा की है। इसके साथ साथ  भारत को बिना किसी शर्त के अपना पूरा समर्थन दिया है और कहा है कि वो भारत के साथ पूरी तरह से खड़ा है।इसरायली अधिकारी मलका ने इस बाबत कहा  ‘‘भारत को अपनी रक्षा के लिए जो आवश्यकता है, उसकी कोई सीमा नहीं है. हम अपने करीबी मित्र भारत को विशेष तौर पर आतंकवाद के खिलाफ बचाव करने में मदद करने के लिए तैयार हैं क्योंकि आतंकवाद विश्व की समस्या है, न कि सिर्फ भारत और इजराइल की.”।

UN मे पुलवामा हमले पर निंदा प्रस्ताव पास किया – ये विदेश नीति का ही असर है कि पाकिस्तान अब समूचे विश्व मे घिरता जा रहा है। जहाँ एक ओर 40 देश भारत के साथ देने को खड़े है तो दूसरी तरफ आज संयुक्त राष्ट्र संघ ने पुलवामा हमले को लेकर निंदा प्रस्ताव पास किया है और आतंक के नाश के लिए समूचे विश्व को एकजुट होने की बात भी कही है। साथ ही साथ दोनो देशों को तनाव कम करने को भी कहा गया है।

इतना ही नही क्या अमेरिका हो या ब्रिटेन या फिर रूस सभी भारत के साथ खड़े है और ये सब हुआ है नमो सरकार की विदेश नीति के चलते। यानी की क्या एशिया हो या फिर क्या यूरोप हर जगह भारत का डंका बज रहा है इसीलिये पाकिस्तान परेशान है और डरा हुआ है तभी वो भारत मे आतंकी हमला करवा रहा है। लेकिन वो ये भूल चुका है कि अब भारत इसका जवाब दूसरे तरीके से देने के लिये तैयार है और वो जरूर देकर रहेगा, फिर वो कितने भी यूएन के चक्कर लगा ले ।

 


  • 132
  •  
  •  
  •  
  •  
  •