दुनिया के लोगों आज पीएम मोदी से मदद की लगा रहे गुहार

जो लोग आज देश में ये भ्रम फैला रहे है कि पीएम मोदी सबसे ज्यादा कमजोर प्रधानमंत्री है तो उन्हे जरूर इस खबर से बहुत बड़ा करंट लगने वाला है। क्योंकि खबर ही कुछ ऐसी है। मसला कुछ ऐसा है कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से अब ये आवाज आने लगी है कि पीएम मोदी उन्हे पाक सरकार से मुक्त करवाये और वहां पर भी अमन का शासन लाये। इसी तरह श्रीलंका के विपक्ष के कई सांसदों ने पीएम मोदी से देश बचाने के लिये मदद मांगी है।

पीओके की जनता का पीएम मोदी से गुहार

पाकिस्तान के कब्जे वाले गुलाम कश्मीर के निवासियों ने स्थानीय प्रशासन के जुल्म से निजात दिलाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से गुहार लगाई है। भारत की ओर मदद की आस लगाए देखने वाले मलिक वसीम और उसके बीवी-बच्चों को पीओके प्रशासन ने उनके घर से बाहर निकाल दिया है। अब इस हाड़ तोड़ ठंड ने पूरा परिवार खुले आसमान के नीचे ठिठुरने को विवश है। वायरल हो चुके एक वीडियो में मलिक वसीम को भारत से मदद मांगते देखा जा सकता है। ताकि उसे और उसके परिवार को मुजफ्फराबाद के प्रशासन की क्रूरता से बचाया जा सके। इससे साफ पता चलता है कि पीएम मोदी पर लोगों का किस तरह का विश्वास है कि वो ही एक अच्छी व्यवस्था ला सकते है। इतना ही नही कुछ दिन पहले बलूचिस्तान के लोगों ने भी पाक सरकार की ज्यादती पर पीएम मोदी से मदद मांगी थी।

श्रीलंका के संसदों ने मोदी को खत लिखकर मांगी सहायता

श्रीलंका के उत्तरी और पूर्वी प्रांतों में श्रीलंकाई तमिलों का प्रतिनिधित्व करने वाली सात राजनीतिक पार्टियों ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक संयुक्त पत्र लिखा है, जिसमें संविधान में 13 वेंसंशोधन के प्रावधानों को पूरी तरह से लागू करने के लिए उनकी मदद मांगी गई है। आपको बता देंकि, 29 जुलाई 1987 को भारत और श्रीलंका के बीच हुए समझौते के तहत श्रीलंका के संविधान में12ए यानि 12वां संशोधन किया गया था और अब श्रीलंका की सात राजनीतिक पार्टियों ने भारतीय प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर मांग की है, कि वो श्रीलंका सरकार से उन संशोधन को लागू करने के लिए कहें, जिसे श्रीलंकन सरकार लागू नहीं कर रही है और इसी की गुहार अब मोदी जी से लगाई जा रही है। इतना ही नही कुछ सासंदो ने पीएम मोदी से आर्थिक तंगी से झूझ रहे लंका की मदद करने की भी गुहार लगाई है।

इस बात से एक बात तो साफ हो जाती है कि आज दुनिया में पीएम मोदी को लेकर एक अलग सा ही विश्वास पनपा है और समूचा विश्व ये कहते हुए नजर आ रहा है कि मोदी है तो मुमकिन है।